साइंटिस्ट बने प्रभात ओझा, रोशन किया क्षेत्र का नाम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, April 15, 2022

साइंटिस्ट बने प्रभात ओझा, रोशन किया क्षेत्र का नाम

देश में 44 वी रैंक किया हासिल

बबेरु/बांदा, के एस दुबे । बबेरू तहसील क्षेत्र अंतर्गत छोटे से गांव तिलौसा का रहने वाला छात्र राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय भारत सरकार के द्वारा साइंटिस्ट के पद पर चयनित हुआ है। जो पूरे देश में 44 वी रैंक हासिल किया है, जिससे अपने गृह जनपद व मामा के घर पहुंचने पर फूल माला पहनाकर बैंड बाजा के साथ स्वागत किया। और उज्जवल भविष्य की कामना किया हैं।

 


बबेरू तहसील क्षेत्र अंतर्गत तिलौसा गांव के रहने वाले छात्र प्रभात ओझा पुत्र प्रेम किशोर जो लखनऊ में रहकर पढ़ाई करता था। जिसमें राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय भारत सरकार के द्वारा साइंटिस्ट के 44 वी रैंक लाकर बांदा जनपद के बबेरू तहसील का नाम रोशन किया है। और आज शुक्रवार को अपने ननिहाल बबेरू कस्बे के आगमन पर छात्र को फूल माला पहनाकर एवं मुंह मीठा कराकर छात्र का जोरदार स्वागत किया गया। इस मौके पर ननिहाल पहुंचने व साथ-साथ अन्य रिश्तेदार एवं कस्बे के गणमान्य लोग पहुंचकर फूल माला पहनाकर उज्जवल भविष्य की कामना किया है।

वहीं छात्र प्रभात ओझा ने मीडिया से बात करते हुए कहा की मेहनत करने से सफलता जरूर हासिल होती है। और आज मैंने मेहनत करके यह जो 44 वी रैंक मिली है। यह मैं अपने माता-पिता एवं गुरुजनों श्री देता हूं, कि जो समय समय पर मुझे मार्गदर्शन मिलता रहा। जिससे आज मैं यह मुकाम हासिल किया, वहीं छात्र प्रभात ओझा के मामा गजेंद्र द्विवेदी के द्वारा बताया गया, की क्षेत्र के छात्रों एवं युवाओं को एक सीख मिलेगी। की एक छोटे से गांव का रहने वाला छात्र साइंटिस्ट बना है। और पूरे गांव और तहसील का नाम रोशन किया है। और मैं अन्य युवाओं से कहना चाहूंगा कि अगर मेहनत करके पढ़ा लिखा जा सकता है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages