वार्ड में मृत मिली महिला तो मंत्री का चढ़ा पारा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Saturday, April 30, 2022

वार्ड में मृत मिली महिला तो मंत्री का चढ़ा पारा

सीएमओ, सीएमएस को लगाई फटकार, जांच कर चिकित्सक के खिलाफ कार्यवाही के दिए निर्देश

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरी । पर्यटन एवं संस्कृति विभाग मंत्री जयवीर सिंह ने शनिवार को जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान मरीजों से स्वास्थ्य, दवाओं के बारे में जानकारी की। इसके बाद जच्चा-बच्चा बार्ड, जनरल वार्ड, पोषण पुनर्वास केंद्र, एसएनसीयू वार्ड आदि की व्यवस्थाएं देखी। जनरल बार्ड में वर्न का मरीज भर्ती होने पर अधीक्षक जिला चिकित्सालय डा. राजेश खरे को सख्त निर्देश दिए कि मरीज को बर्न वार्ड में भर्ती करें। सामान्य वार्ड के निरीक्षण के दौरान मैकी (30) निवासी थाना रैपुरा के ग्राम चरदहा का इलाज चल रहा था, लेकिन उसकी मृत्यु हो गई थी। इस पर मौजूद लोगों ने शिकायत किया कि जनरल वार्ड में मृत मरीज पड़ा है। किसी को जानकारी नहीं है। यह सुनकर मंत्री समेत उच्चाधिकारी भौचक्के रह गए। मृतका की मां चुनकी पत्नी मैका ने बताया कि बीती शाम लगभग आठ बजे लेकर आए थे। जिसको देखकर मंत्री ने नाराजगी व्यक्त करते हुए डीएम शुभ्रान्त कुमार शुक्ल से कहा कि जिला अस्पताल का जो चिकित्सक इस मरीज का इलाज कर रहा था उसकी जांच कराकर सख्त कार्यवाही कराएं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी, चिकित्सा अधीक्षक को सख्त निर्देश दिए की जिला चिकित्सालय की व्यवस्थाओं में सुधार लाएं। अन्यथा की दशा में कड़ी कार्यवाही कराई जाएगी। कहा कि जब तक चिकित्साधीक्षक की नियुक्ति मूल रूप में नहीं हो रही तब तक सीएमओ व्यवस्थाओं को देखें। किसी भी मरीज को कोई असुविधा नहीं होनी चाहिए। सरकार की मंशा के अनुरूप जनता को स्वास्थ्य लाभ दिलाया जाए। निरीक्षण के दौरान एसपी अतुल शर्मा, सीडीओ अमित आसेरी, सीएमओ डा. भूपेश द्विवेदी, जिला पंचायत अध्यक्ष अशोक जाटव आदि मौजूद रहे।

अस्पताल का निरीक्षण करते मंत्री।

कोटेदार पर कार्यवाही न हुई तो सीएम आवास के सामने करेंगें आमरण अनशन

चित्रकूट। जिला अस्पताल के निरीक्षण के पूर्व डांक बंगले के बाहर देहरुच माफी के ग्रामीणों ने कोटेदार के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर मंत्री को पत्र सौपा है। पत्र में कहा कि शिकायत पर कोटा तो निलंबित कर दिया गया, किन्तु सक्षम अधिकारियों ने कोटेदार के खिलाफ कार्यवाही नहीं की। जिससे कोटेदार लगातार फर्जी मामले में फंसाने व कोई भी सरकारी योजनाओं का लाभ न दिलाने की धमकी दे रहा है। गांव में दबंगई करता है। ग्रामीणों ने चेताया कि अगर कोटेदार के खिलाफ कार्यवाही नहीं हुई तो सीएम आवास के सामने आमरण अनशन को मजबूर होंगें। इस मौके पर सोनिया देवी, गीता देवी, बिट्टी देवी, फुलमतिया आदि महिलाएं मौजूद रहीं।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages