बच्चे नहीं सुना पाये पहाड़ा, डीएम का चढ़ा पारा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, April 20, 2022

बच्चे नहीं सुना पाये पहाड़ा, डीएम का चढ़ा पारा

सहायक अध्यापक सहित तीन के वेतन रोकने के दिए निर्देश

बांदा, के एस दुबे । जिलाधिकारी अनुराग पटेल द्वारा डिप्टी कलेक्टर (प्रशिक्षु) कु0 श्वेता साहू एवं यदुवेन्द्र सिंह के साथ ’’प्रशासन पोषण पाठन अभियान’’ के अन्तर्गत गोद लिये उच्च प्राथमिक विद्यालय (कम्पोजिट 1 से 8), कतरावल, क्षेत्र बड़ोखरखुर्द का निरीक्षण किया गया तथा बच्चों को लगभग 02 घंण्टे पढ़ाया गया।


 निरीक्षण के दौरान श्रीमती अर्चना देवी, सहायक अध्यापक एवं राजेश सिंह सहायक अध्यापक उपस्थित मिले तथा श्रीमती अंजु याज्ञिक, प्रधानाध्यापक अवकाश पर पाई गई। जिलाधिकारी द्वारा छात्र-छात्राओं के उपस्थिति पंजीका का अवलोकन किया गया। स्कूल चलो अभियान के अन्तर्गत जूनियर में 21 एवं प्राईमरी में 5 बच्चों का पंजीकरण किया गया जिसमें 08 बच्चों का प्रवेश नहीं हुआ पाया गया। 08 बच्चों के पंजीकरण होने के उपरान्त अब तक प्रवेश न होने के सम्बन्ध में जानकारी चाही गई। मौके पर उपस्थित राजेश सिंह, सहायक अध्यापक द्वारा बताया गया कि बच्चों के अभिलेख न मिलने के कारण प्रवेश नहीं हुआ है। जिलाधिकारी द्वारा नाराजगी व्यक्त करते हुये कहा कि तत्काल 02 दिवस में बच्चों के घर-घर जाकर उनके अभिलेख लेते हुये प्रवेश कराना सुनिश्चित करें।

 निरीक्षण के दौरान उच्च प्राथमिक विद्यालय में कक्षा-1 में 05 बच्चों के सापेक्ष 01 बच्चा, कक्षा-2 में 19 के सापेक्ष 5, कक्षा-3 में 20 के सापेक्ष 3, कक्षा-4 में 25 के सापेक्ष 5, कक्षा-6 में 47 के सापेक्ष 16, कक्षा-7 में 61 के सापेक्ष 12 एवं कक्षा-8 में 52 के सापेक्ष 05 बच्चें उपस्थित मिले। जिलाधिकारी द्वारा कक्षा-5 व कक्षा-8 के बच्चों को लगभग 02 घण्टे पढ़ाया। बच्चों से मिडडे-मिल व किताबें, जूते मोजे, व ड्रेस आदि तथा विभिन्न प्रकार की जानकारियां प्राप्त की गयी। विद्यालय में कक्षा-5 के बच्चों से 69 व 79 लिखवाया गया, परन्तु 02 बच्चों को छोड़कर कोई भी बच्चें 69 व 79 नहीं लिख पाये। गणित विषय में 5 का भाग 19 में सवाल हल करने को दिया गया, परन्तु बच्चें सवाल हल नहीं कर पाये। इसके साथ हिन्दी विषय में आलेख सुलेख का क्या होता है इसकी भी बच्चों को जानकारी नहीं थी। कक्षा-5 के बच्चों से कक्षा-4 के हिन्दी पुस्तक की पहले अध्याय की 03 पैरा की कविता कविता को सुना गया, परन्तु केवल 01 बच्चें द्वारा कविता की 01 पैरा भी सही तरीके से याद नहीं है और वह भी शब्दों के माने भी नहीं याद थे। कक्षा-8 के बच्चों से कक्षा-7 की हिन्दी पुस्तक की प्रथम कविता को सुना गया और प्रभात, तम, मलय, वात एवं भेंटो शब्दों के मायने पूछा गया। लेकिन 02 बच्चों को छोडकर सही से शब्दों के मायने नहीं बता पाये। जिलाधिकारी द्वारा बच्चों से समाजिक विज्ञान विषय में देश में कितने राज्य एवं केन्द्रशासित राज्यों की संख्या की जानकारी करने पर बच्चों को सही जानकारी नहीं थी। इसके साथ ही बच्चों को राष्ट्रीय ध्वज, अशोक स्तम्भ एवं देश में किस राज्य में महिला मुख्यमंत्री है की सामान्य जानकारी पूछे जाने पर बच्चों द्वारा कोई उत्तर नहीं दे पाये। जिलाधिकारी द्वारा विद्यालय में पठन पाठन की स्थिति खराब पाये जाने पर श्रीमती अंजु याज्ञिक, प्रधानाध्यापक, श्रीमती अर्चना देवी एवं राजेश सिंह सहायक अध्यापक का मासिक वेतन अग्रिम आदेशों तक रोका गया। साथ ही मौके पर उपस्थित अध्यापकगणों को निर्देशित किया गया कि 01 माह के अन्दर बच्चों को मानक के अनुसार पठन पाठन की गुणवत्ता में सुधार लाया जाये। अन्यथा कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages