शनि का 30 साल बाद कुंभ राशि में गोचर - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, April 27, 2022

शनि का 30 साल बाद कुंभ राशि में गोचर

शनिदेव  शुक्रवार, 29 अप्रैल  को धनिष्ठा नक्षत्र और कुंभ राशि में 12:17 बजे शनिदेव का प्रवेश हो रहा है। शनि ग्रह एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करने के लिए करीब ढाई वर्ष का समय लगाते हैं।12 रशिया पार करने में 30 साल लगते है ज्योतिष में शनिग्रह को न्यायाधिपति और कर्मफलदाता ग्रह माना जाता है। यह व्यक्तियों के उसके द्वारा किए गए कर्मों के आधार पर ही अच्छा या बुरा फल प्रदान करते हैं। जिन जातकों की कुंडली में शनि शुभ भाव में होते हैं वे अक्सर शुभ फल ही प्रदान करते हैं जबकि शनि के अशुभ भाव में होने पर व्यक्ति के ऊपर कई तरह की संघर्ष , परेशानियां आती हैं।. शनिदेव कुंभ राशि में प्रवेश करेंगे उसके बाद से कुंभ राशि पर साढ़ेसाती का दूसरा, मकर पर तीसरा और मीन राशि पर पहला चरण शुरू हो जाएगा। इसके अलावा कर्क और वृश्चिक राशि वालों पर ढैय्या आरंभ हो जाएगी। शनि के राशि परिवर्तन होने से धनु राशि से साढ़ेसाती और मिथुन व तुला राशि वालों पर शनि की ढैय्या खत्म हो जाएगी। जिस कारण से इनके जीवन में परेशानियां कम होंगी।मकर व कुंभ शनि की स्वराशि है तुला शनि की उच्च राशि है मेष शनि की नीच राशि है   शनि का ज्यादा प्रभाव उस पर पड़ेगा, जिसकी दशा या महादशा शनि की चल रही हो। साढ़े साती या ढैया चल रही हो । शनि के तीन नक्षत्र होते है पुष्य, उतराभाद्रप्रद और अनुराधा है इसलिए जिसका भी जन्म इस नक्षत्र में हुआ है उस पर भी शनि का प्रभाव पड़ेगा


शनि के अशुभ असर को कम करने के लिए हर शनिवार शनिदेव को तेल चढ़ाने की परंपरा है, हनुमान जी की पूजा, भगवान  शिव की पूजा, पीपल और शमी वृक्ष की पूजा, आठ मुखी रुद्राक्ष पहनने से शनि दोष कम होता है । हर शनिवार अपना चेहरा देखकर तेल का दान करें। शनिवार को काले तिल, कंबल, काली उड़द, लोहे के बर्तनों का और जूते-चप्पलों का दान भी किया जा सकता है। ।
शनि के कुंभ राशि में आने के बाद दुनिया में फैली अशांति कम हो सकती है। पूजा-पाठ और अच्छे काम करने वाले लोगों को लाभ मिलेगा। जनता को मंहगाई से कुछ राहत मिलने के संकेत हैं। युद्ध के हालातों में सुधार होगा।
ये राशि परिवर्तन 3 राशि –मेष, वृषभ धनु वालों के लिए लाभकारी सिद्ध होगी,

शनि का राशि अनुसार फल -

 1 - मेष राशि:  शनि देव आपके 11वें भाव में गोचर करेंगे, लाभ /बिजनेस में अच्छा मुनाफा हो सकता है। इनकम के नए- नए स्त्रोत बन सकते हैं

2 वृषभ राशि: शनि देव दशम भाव में भ्रमण करेंगे, नई नौकरी का प्रस्ताव आ सकता है। प्रमोशन और इंक्रीमेंट हो सकता है। भाग्य में वृद्धि

3 - मिथुन राशि -शनि आपके 8वें व 9वें भाव के स्वामी हैं मेहतन का पूरा लाभ मिलेगा। भाग्य का साथ मिलेगा। खेती से जुड़े लोगों को लाभ होगा। बड़े लोगों से संपर्क लाभ देगा

4 - कर्क  राशि -गृहस्थी में तनाव रहेगा। विदेश जा सकते हैं या एमएनसी कंपनी में नौकरी कर सकते हैं। पार्टनरशिप से बचें।

5 - सिंह राशि-सेहत का विशेष ध्यान रखना होगा। इस समय मेहनत ज्यादा करने के साथ ही विरोधियों से सतर्क रहना होगा। वाणी पर विशेष संयम रखना होगा

6 - कन्या राशि - इस दौरान आप कुछ नया कर सकते हैं।  वाणी पर विशेष ध्यान रखने के साथ ही सेहत के मामले में पेट का भी विशेष ध्यान रखना होगा। घुटनों के नीचे दर्द रहने की संभावना है। धोखे से सतर्क रहें।

7 - तुला राशि - आपके 4थें व 5वें भाव के स्वामी शनि हैं। इस दौरान शनि आपके लिए विशेष शुभ रहेंगे। खेल जगत के अलावा किसी रिसर्च में भी इस दौरान आप विशेष कार्य कर सकते हैं। विशेष धन लाभ की स्थिति बनी रहेगी।

8 - वृश्चिक राशि - इस समय शनि की ढ़ैय्या आपको परेशान कर सकती है। आपको गृहस्थी पर विशेष ध्यान देना होगा। मन में संशय बना रहेगा। कार्य में एकाग्रता से ही सफलता प्राप्त होगी। नौकरी में बॉस से तनाव रहने की संभावना है।

9 - धनु राशि - शनि ग्रह  तीसरे भाव में गोचर करेंगे।पराक्रम में वृद्धि के संकेत हैं। गुप्त शत्रुओं का भी नाश होगा। किसी पुराने रोग से  निजात मिल सकती है। अनेक काम बनेंगे। साथ ही दोस्तों व भाइयों का सहयोग भी मिलेगा।

10 - मकर राशि - साढ़े साती का प्रभाव रहेगा। वाणी पर नियंत्रण रखना होगा। स्थान परिवर्तन का भी योग है। माता की सेहत का ध्यान रखे  आर्थिक दृष्टि से ये समय लाभ वाला रहेगा। इस समय पैसा आएगा।

11 - कुम्भ राशि - मान सम्मान में वृद्धि, आर्थिक पक्ष मजबूत होगा स्वास्थ्य और  दांपत्य का ध्यान रखें

12 - मीन राशि - नौकरी और स्थान में परिवर्तन ,व्यय अधिक की सम्भावना
 
 ज्योतिषाचार्य-एस.एस.नागपाल, स्वास्तिक ज्योतिष केन्द्र, अलीगंज, लखनऊ
 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages