मौरंग अवैध खनन में 2.80 करोड़ जुर्माने का नोटिस जारी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, April 26, 2022

मौरंग अवैध खनन में 2.80 करोड़ जुर्माने का नोटिस जारी

संगोलीपुर मडैयन खदान की जांच रिपोर्ट पूरी, खनिज अधिकारी की रिपोर्ट पर डीएम की कार्रवाई

जुर्माना राशि जमा न करने पर आरसी जारी करके फर्म से की जाएगी वसूली

खागा/फतेहपुर, शमशाद खान । संगोलीपुर मडैयन खदान में दूसरे दिन जांच पूरी हो गई। मौरंग खनन में 30 हजार घन मीटर अवैध खनन पाया गया है। पट्टा धारक संस्था ने सीसी कैमरे बंद करके पानी के अंदर से मौरंग की निकासी की है। खनिज विभाग की रिपोर्ट पर पट्टा धारक संस्था को डीएम अपूर्वा दुबे ने 2.80 करोड़ रुपए जुर्माने का नोटिस जारी किया है। धनराशि जमा न करने की दशा में आरसी के जरिए वसूली करने के लिए निर्देश जारी किए गए हैं। 

संगोलीपुर मड़ैयन खदान का दृश्य।

टीम ने बताया कि खदानों की स्थिति परखने के लिए आगे भी निरीक्षण किया जाएगा। ताकि नियमों का उलंघन करने वालों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी। संगोलीपुर मडैयन खदान में अवैध खनन की लगातार शिकायतें आ रही थी। 23 अप्रैल को खनिज अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि खदान की जांच कर जब वहां से निकल रहे थे तभी ननकऊ समेत कुछ लोगों ने उन्हें घेर लिया। खनिज अधिकारी ने इन लोगों पर सरकारी कार्य में बाधा डालने का मुकदमा दर्ज करवाया है। रविवार को डीएम के निर्देश पर जांच करने हेतु खनिज, राजस्व व पुलिस की संयुक्त टीम गई थी। रात होने के कारण जांच पूरी नहीं हुई थी। टीम ने सोमवार को स्थिति देखी और जांच रिपोर्ट तैयार कर डीएम को सौंप दी। खनन का पट्टा मेसर्स ट्रेसमस ट्रेडिंग के पास है। उनके डायरेक्टर अनिरुद्ध तिवारी और संचालन सुनील तिवारी है।

अधिकारियों ने जांच के दौरान निकालीं ये कमियां 

  • - खनन क्षेत्र में सीसी कैमरे लगे थे लेकिन वो क्रियाशील नहीं पाए गए।
  • - खनन क्षेत्र के अंदर पानी आने के बाद भी पानी के भीतर से मौरंग निकासी हुई।
  • - पट्टा क्षेत्र 25 हेक्टेयर है लेकिन उसके बाहर चार स्थानों पर अवैध खनन पाया गया है।
  • - खनन के लिए बड़ी बूम वाली मशीनों से रात में खनन का संदेह भी जांच टीम ने जताया।

संगोलीपुर मड़इयन खदान में जांच की गई। जांच के दौरान 30 घनमीटर में अवैध खनन पाया गया। जिसको देखते हुए 2.80 करोड़ों का जुर्माने की नोटिस जारी की गई है। समय पर ये धनराशि जमा न करने की स्थिति में राजस्व वसूली के माध्यम से शुल्क वसूला जाएगा- राजेश कुमार, खनिज अधिकारी, फतेहपुर।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages