फर्नीचर खरीद के नाम पर साढ़े सात करोड़ रुपए हजम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, March 30, 2022

फर्नीचर खरीद के नाम पर साढ़े सात करोड़ रुपए हजम

उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ बीएसए से मिला, जांच और कार्रवाई की मांग 

संघ पदाधिकारियों ने कहा : उच्च स्तर पर की जाएगी शिकायत 

बांदा, के एस दुबे । शिक्षा के मंदिर में आने वाले छात्र-छात्राओं को बैठने के लिए फर्नीचर खरीद के नाम पर भी जिम्मेदारों ने बड़ा घोटाला कर डाला। घटिया स्तर की डेस्क बेंच खरीदी गई और विद्यालयों में सप्लाई कर दी गई। मामूली इस्तेमाल से ही डेस्क बेंच टूट रही हैं। इस मामले की शिकायत उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ ने बेसिक शिक्षा अधिकारी से बुधवार को मुलाकात की और जांच कराते हुए कार्रवाई की मांग की। संघ पदाधिकारियों ने कहा कि अगर कार्रवाई नहीं हुई तो उच्च स्तर पर शिकायत करवाई जाएगी। 


उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रतिनिधि मंडल जिलाध्यक्ष आशुतोष त्रिपाठी के नेतृत्व में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से मिला और ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया गया कि जनपद के बेसिक शिक्षा विभाग के उच्च प्राथमिक विद्यालयों में बच्चों के बैठने की डेस्क बेंच की सप्लाई में धांधली व भ्रष्टाचार की शिकायत की गई। शिकायत में बताया गया कि शासन द्वारा बेसिक शिक्षा विभाग के उच्च प्राथमिक विद्यालयो में छात्र छत्राओ के बैठने के लिए जनपदवार धन आवंटित किया गया। जनपद बांदा के लगभग 494 विद्यालयों के लिए 14957 डेस्क बेंच की खरीदारी 4760 रुपए प्रति डेस्क बेंच के हिसाब से लगभग 7 करोड़, 11 लाख, 95 हजार, 320 रुपए धन आवंटित किया गया था। जनपद स्तर पर कमेटी का निर्माण कराते हुए खरीददारी के निर्देश दिए गए थे। इसमे जिलाधिकारी अध्यक्ष महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र सदस्य मुख्य विकास अधिकारी उपाध्यक्ष प्राचार्य जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान सदस्य जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सचिव वित्त एवं लेखा अधिकारी बेसिक शिक्षा सदस्य है। जनपद में टेंडर प्रक्रिया जेम पोर्टल के माध्यम से मेसर्स श्याम इंडस्ट्रीज़ विजुअर खुर्द, इंडस्ट्रियल स्टेट सीतापुर उत्तर प्रदेश को सप्लाई का टेंडर दिया गया किंतु उक्त फर्म द्वारा सरकार व विभाग की मंशा पर पानी फेरते हुए गरीब छात्र-छात्राओ के बैठने की बेंच को भी भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा दी। बेंच की लकड़ी की गुणवत्ता इतनी खराब है कि जरा उपयोग मात्र से ही वो टूट जा रही है। फर्म द्वारा बेहद लापरवाही व मनामने तरीके से डेस्क बेंच को स्कूलों तक भेजा जा रहा है। जनपद के अनेक विद्यालयों के प्रधानध्यापको व विद्यालय प्रबंध समिति के अध्यक्ष द्वारा डेस्क बेंच के खराब होने की सूचना खण्ड शिक्षा अधिकारी व जिला बेसिक अधिकारी को दी गई है। हालांकि अभी काफी विद्यालय हैं, जहां अभी तक आपूर्ति तक नही हुई है। संगठन ने मांग की है प्रकरण की जांच गैर विभागीय अधिकारियों से कराते हुए गरीब बच्चों के हक पर डाका डालने वाले दोषियों पर कार्यावाही की जाए। उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ ने इस प्रकरण की शिकायत जिलाधिकारी के साथ महानिदेशक बेसिक शिक्षा व अपर मुख्य सचिव शासन से भी की जा रही है। ज्ञापन देने के दौरान प्रजीत सिंह जिला मंत्री, रमाशंकर यादव वरिष्ठ उपाध्यक्ष, जयकिशोर दीक्षित संयुक्त मंत्री, जनमेजय सिंह, शशांक मिश्रा, राजेश द्विवेदी, भुवनेंद्र यादव, शिवकुमार पांडेय, जसवंत सिंह परिहार, जयगोपाल, हीरालाल, रामबाबू निषाद, अकील सिद्दीकी आदि उपस्थित रहे। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages