महाशिवरात्रि पर्व पर शिवमय हुआ जनपद - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, March 1, 2022

महाशिवरात्रि पर्व पर शिवमय हुआ जनपद

मत्यगजेन्द्रनाथ मंदिर में हुई चार प्रहर की आरती, धूमधाम से निकाली शिव बाराज

जगह-जगह हुए धार्मिक आयोजन 

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। महाशिवरात्रि पर्व पर जनपद के शिवालयों में बम बम भोले के जयकारों के साथ शिव भक्तों ने जलाभिषेक कर विधिविान से पूजा अर्चना की। अपरान्ह बाद मंदिरों से शिव बारात निकाली गई। जगह-जगह धार्मिक आयोजन हुए। शिवभक्तों ने व्रत रखा। शिव मंदिरों को आकर्षक सजाया गया। 

मंगलवार को सीतापुर स्थित रामघाट मंदाकिनी तट पर ब्रह्मा जी द्वारा स्थापित मत्यगजेन्द्रनाथ शंकर भगवान की भोर चार बजे से ही विधिविधान से पूजा आराधना का प्रारंभ हो गई। इसी क्रम में जनपद सतना में स्थित बिरसिंगपुर में आस्थावानो का तांता लगा रहा। जनपद के कई स्थानों पर विराजमान शिव मंदिरों में सांगोपांग विधि से शिव-पार्वती की पूजा की गई। श्रद्धालुओं ने मत्यगजेन्द्रनाथ शंकर भगवान के स्थल से शिव बारात हाथी घोडे, बैंडबाजों व शिवगणों के साथ धूमधाम से निकाली गई। इसी क्रम में मुख्यालय स्थित धतुरहा चौराहा से शिवगणों के

भगवान शिव के जलाभिषेक को जाते श्रद्धालु।

विभिन्न रूपों के साथ हजारों श्रद्धालुओं ने शिव बारात निकाली। रात्रिकालीन अवसर पर जगदीशगंज स्थित शिव मंदिर में शिव पार्वती का विवाह विधिविधान पूर्वक कराया गया। तत्पश्चात आस्थावानों को भरपेट ठंडई भांग प्रसाद बाटा गया। जनपद चित्रकूट के मंदाकिनी तट रामघाट टीले में विराजमान मत्यगजेन्द्रनाथ शंकर भगवान सहित अतिप्राचीन तरौंहा के शिव मंदिर, कोठीतालाब शिव मंदिर, सोमनाथ मंदिर ग्राम चर, गुप्त गोदावरी स्थित पंचमुखी शिव, पहाड़ी स्थित पालेश्वरनाथ मंदिर आदि शिवालयों में प्रातः से ही बम बम भोले, हर हर भोले के साथ सांगोंपांग विधि से शिव पार्वती का पूजन होना प्रारंभ हुआ। अधिकांश भक्तों ने भगवान शिव की पूजा दूध, दही, घी, शहद का जलाभिषेक कर बेलपत्र, धतूर फूल, फल, मंदार पुष्प, आम की बौर, बिरवा, अबीर अर्पित कर किया। प्रातःकाल चार बजे व सायं साढ़े सात बजे, रात्रि 11 व डेढ़ बजे चौथी आरती श्रीमत्यगजेन्द्रनाथ एवं पर्णकुटी मंदिर सेवा ट्रस्ट के पुजारियों ने की। सायंकाल तीन बजे शिव बारात निकाली गई जो नगर भ्रमण कर पुनः मंदिर में आई। बारात में शिवगणों के विभिन्न रूप से सजे लोग आकर्षण का केन्द्र रहे। वहीं विभिन्न प्रकार के चेहरे से सुसज्जित नजर आए। रामघाट स्थल से शिव बारात जोर शोर से निकाली गई। जिसमें हाथी, घोडे के साथ विभिन्न प्रकार की शिव रूपों की झांकियांं के साथ निकले। बैडबाजों की धुन में शिवभक्त थिरकते हुए बम बम भोले के जयकारे लगाते रहे। इसी क्रम में ही अतिप्राचीन चर गांव स्थित सोमनाथ मंदिर में भी शिव पार्वती के विवाह का पर्व महाशिवरात्रि मनाया गया। जनपद के कस्बो, गांवों के विभिन्न शिवालय भव्य सजाए गए। धूमधाम से भगवान शिव की पूजा की गई। विभिन्न प्रकार के धार्मिक आयोजन कर भक्तों को प्रसाद का वितरण किया गया।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages