बरसाने में बाजे नगाड़ा कि होली आई अराररारा... - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, March 15, 2022

बरसाने में बाजे नगाड़ा कि होली आई अराररारा...

फाल्गुन मास की ग्यारस को पतौरा में विराजे सीस के दानी भगवान

डीएम समेत आसपास के जिलों के सैकड़ों श्रद्धालुओं ने की शिरकत 

बांदा, के एस दुबे । महुआ विकास खंड के पतौरा गांव में श्याम प्रेमियों की ऐसी धुन लगी कि समूचा क्षेत्र की खांटू धाम बन गया। श्याम रस की ऐसी बयार बही कि सभी श्याम प्रेमी झूम उठे। ग्राम प्रधान पतौरा विनीता त्रिपाठी और उनके पति वरिष्ठ पत्रकार ओमप्रकाश त्रिपाठी के संयोजन में पतौरा गांव में आयोजित खांटू श्याम जी संकीर्तन एवं भजन संध्या के दौरान कलाकारों ने जमकर धमाल मचाया। वहीं फूलों की होली ने कार्यक्रम के दौरान फाल्गुन मास और होलाष्टक की याद दिलाई। कलाकारों के एक गीत पर सैकड़ों श्याम प्रेमी देर तक झूमते रहे। कार्यक्रम में मुख्य आकर्षण का केंद्र प्रयागराज और कानपुर से आई झांकियां रहीं। झांकी कलाकारों ने भगवान राधा-कृष्ण के स्वरूप का सजीव मंचन किया तो समूचा पंडाल मस्ती में झूमने लगा। कार्यक्रम में जिलाधिकारी अनुराग पटेल समेत जिले के तमाम संभ्रांत लोग और आसपास के जिलों के सैकड़ों श्रद्धालु देर रात तक डटे रहे। 

खांटू श्याम के दरबार में हाजिरी लगाते जिलाधिकारी अनुराग पटेल, साथ में ग्राम प्रधान प्रतिनिधि ओमप्रकाश त्रिपाठी

सोमवार की शाम पतौरा गांव की छटा देखते ही बन रही थी, गांव की प्रधान विनीता त्रिपाठी और उनके पति वरिष्ठ पत्रकार ओमप्रकाश त्रिपाठी ने गांव में बाबा खांटू श्याम का दरबार सजाया और लोगों को भक्तिरस में गोते लगाते हुए झूमने पर विवश कर दिया। कानपुर की मां वैष्णवी जागरण पार्टी के कलाकारों के साथ ही दूर-दूर से आए कलाकारों ने ऐसी समां बांधी कि लोग बिना झूमे नहीं रह सके। संकीर्तन एवं भजन संध्या का शुभारंभ भगवान खांटू श्याम के दरबार की पूजा अर्चना व हवन के साथ हुई। जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने भी पहुंचकर भगवान के
खांटू श्याम के दरबार में बैठे जिलाधिकारी अनुराग पटेल व ओमप्रकाश त्रिपाठी

दरबार में अपनी हाजिरी लगाई और हवन में आहुति डाली। भजन संध्या की मुख्य कलाकारों में शामिल कानपुर की शैफाली द्विवेदी ने पहली ही प्रस्तुति में जब ताजमहल से भी प्यारा बाबा का दरबार है भजन प्रस्तुत किया तो माहौल में गजब का उत्साह भर गया। इसके बाद शैफाली ने लो आ गया अब तो तेरी श्याम मैं शरण आया, हारे के सहारे आ जा तेरा दास पुकारे आ जा आदि एक के बाद एक कई भजन सुनाकर समां ही बांध दी। शैफाली के भजनों की धुन पर पंडाल में मौजूद सभी भक्त झूम उठे। वहीं गुरसहायगंज कन्नौज के कलाकार संदीप मस्ताना ने बाबा खांटू
खांटू श्यामक के दरबार में मौजूद महिलाओं का हुजूम

श्याम की कथा का बखान किया और भगवान के बर्बरीक से खांटू श्याम बनने तक का संपूर्ण वृत्त गाकर सुनाया। इसके मस्ताना ने हम तो बाबा के भरोसे चलते हैं, सबके सहारे लाखों मुझे बस श्याम का सहारा है, श्याम सपनों में आता क्यूं नहीं, प्यारी सूरति दखाता क्यूं नहीं आदि गीतों के माध्यम से समां बांधी। इसके बाद मप्र के इटारसी की दीपाली यादव ने गणेश वंदना के साथ अपनी प्रस्तुति की शुरूआत की और फिर श्रीरामचरित मानस की चौपाईयों के जरिए माहौल को भक्तिमय बनाया। इसके बाद दीपाली ने एक के बाद एक शानदार भजनों की प्रस्तुति के
खांटू श्याम के दरबार में श्रद्धालुओं को संबोधित करते जिलाधिकारी अनुराग पटेल

माध्यम से लोगों को झूमने पर विवश कर दिया। उन्होंने सेवा में थारी मने आज बिछ जाना, सांवरियो बैठो है जो चहिए सो मांग ले, लुट रहा लुट रहा रे मेरे श्याम का खजाना लुट रहा रे भजनों की प्रतुस्ति की। वहीं उन्होंने धारा तो बहर रही है श्री राधे नाम की, आता ही रहा सांवरा आता ही रहेगा भजनों को श्रद्धालुओं ने खूब सराहा। दीपाली के श्याम खांटू वाले के दर पर जो भी जाएगा, जय श्रीश्याम जपने वाला भवसागर तर जाएगा भजन के माध्यम से बाबा श्याम की महिमा का बखान किया। इसके बाद एक फिर से शैफाली द्विवेदी ने नजरें जरा मिला ले ऐ श्याम खांटू वाले के माध्यम से माहौला को भक्तिमय बना दिया। वहीं कानपुर के अनुज अलबेला, राजकुमार आदि ने भी अपने भजनों के दम पर लोगों को खूब झुमाया। इस मौके पर जिलाधिकारी अनुराग पटेल के अलावा प्राथमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष आशुतोष त्रिपाठी, भाजपा जिला संयोजक संजय सिंह, बड़ोखर ब्लाक प्रमुख स्वर्ण सिंह सोनू, पूर्व चेयरमैन राजकुमार राज, भाजपा नेता अमित सेठ भोलू, डा.मनोज कुमार शिवहरे, सपा नेता पियूष गुप्ता, अंकित बासू, धनंजय मिश्रा, अभिनव गुप्ता, सुनील तिवारी, सुनील सक्सेना, शैलेंद्र शर्मा, ईडीसी कांट्रेक्टर यूनियन के जलाध्यक्ष सचिन मिश्रा, आलोक त्रिपाठी, आदर्श त्रिपाठी, पंकज त्रिपाठी आदि शामिल रहे।

खांटू श्याम के दरबार में सुदामा चरित्र का भी हुआ मंचन

जगराते में भजन के दौरान हाथ उठाकर तालियां बजातीं महिलाएं

फूलों की होली में सराबोर हुए श्याम प्रेमी

बांदा। खांटू श्याम संकीर्तन एवं भजन संध्या के दौरान प्रयागराज व कानपुर से आए झांकी कलाकारों ने जमकर धमाल मचाया। प्रयागराज के झांकी कलाकारों ने जब भगवान श्रीकृष्ण व राधा की सजीव झांकी प्रस्तुत की तो दर्शकों से खचाखच भरे पंडाल में मौजूद श्रद्धालुओं में धूम मच गई। कलाकारों ने फूलों की होली खेलकर सभी को फाल्गुन रस में सराबोर कर दिया। झांकी कलाकारों की धुन पर ही सभी श्रद्धालु भी झूमते रहे। झांकी कलाकारों ने जिलाधिकारी अनुराग पटेल समेत सभी श्रद्धालुओं को फूलों की वर्षा करके सराबोर कर दिया। फूलों की होली के दौरान कई कुंतल फूल बरसाए गए।

जगराते में भजन प्रस्तुत करतीं कानपुर की शैफाली द्विवेदी

भगवान का गजरा और नजर उतारा रहा आकर्षण का केंद्र

बांदा। संकीर्तन एवं भजन संध्या के बाद भगवान खांटू श्याम का गजरा और नजर का उतारा आकर्षण का केंद्र रहा। ग्राम प्रधान विनीता त्रिपाठी व वरिष्ठ पत्रकार ओमप्रकाश त्रिपाठी ने सपरिवार भगवान खांटू श्याम को गजरा भेंट किया और उनकी आरती उतारी। इसके बाद भगवान खांटू श्याम की नजर उतारने की रस्म निभाई गई। भगवान नजर उतारने वालों में होड़ मच गई और लोगों ने भगवान की नजर उतारकर भेंट चढ़ाई। इसके बाद भगवान खांटू श्याम के चरणों में छप्पन भोग का प्रसाद अर्पित किया गया। जिसे सैकड़ों श्रद्धालुओं के बीच वितरित किया, प्रसाद ग्रहण करके श्रद्धालुओं ने खुद को धन्य महसूस किया। 

राधा और कृष्ण की मनमोहक झांकी

झांकियों के आकर्षण में सुधबुध भूल बैठे श्रद्धालु

बांदा। संकीर्तन एवं भजन संध्या के दौरान प्रयागराज व कानपुर से आए झांकी कलाकारों ने जमकर धमाल मचाया। प्रयागराज के कलाकारों ने राधा-कृष्ण की झांकी प्रस्तुत करके लोगों को भक्तिरस के साथ होली के रंगों में सराबोर किया तो कानपुर के कलाकारों ने एकल व युगल प्रस्तुति देकर दर्शकों को हंसाते हुए खूब मनोरंजन किया। सभी दर्शकों झांकियों की अनुपम छटा को देखकर भक्तिरस में झूम उठे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages