दुःखों के निवारण को भगवान लेते हैं अवतार : मुरलीधर - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, March 23, 2022

दुःखों के निवारण को भगवान लेते हैं अवतार : मुरलीधर

श्रीराम जन्मोत्सव की कथा सुन श्रोता हुए भावविभोर

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। रामायण मेला परिसर सीतापुर में महाजन मनिहार परिवार की मेजबानी में चल रही नौ दिवसीय रामकथा के दूसरे दिन संत मुरलीधर जी महाराज ने बालकांड में वर्णित भगवान शिव व पार्वती के विवाह के

कथा श्रवण कराते संत मुरलीधर

प्रसंग बाद भगवान राम के जन्मोत्सव की कथा सुनाई। इस दौरान भए प्रगट कृपाला दीन दयाला, अवध में आनंद भयो के गीत गाकर श्रोताओं को भावविभोर कर दिया। प्रसंग के माध्यम से बताया कि जब धरती पर ब्राह्मण, धेनु तथा संत दुखी होते हैं तब तब भगवान का अवतार होता है। देवता व मानव राक्षसों के अत्याचार से दुखी होकर भगवान से धरती पर अवतार लेने की प्रार्थना की। तब भगवान ने दुष्ट रावण का वध कर धरती को पापों से मुक्त
गीतो पर नाचते श्रोतागण।

करने के लिए अवतार लिया। महाराज ने कहा कि जिनके ह््रदय में भगवान है वह व्यक्ति कभी दुखी नहीं हो सकता। इस अवसर पर भागवताचार्य सिद्धार्थ पयासी, विजय महाजन, नीलम महाजन, चंद्रकला, रमेश चंद्र मनिहार, शिव कुमार कंसल, अरुण गर्ग, अनिल अग्रवाल सहित मानस प्रेमी मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages