शिक्षा और कौशल विकास में करें तकनीकी का प्रयोग : कुलपति - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, March 27, 2022

शिक्षा और कौशल विकास में करें तकनीकी का प्रयोग : कुलपति

बांदा, के एस दुबे । वर्तमान परिवेश में शिक्षा के साथ-साथ जीवन के हर क्षेत्र में तकनीकी आवश्यक है। विज्ञान के क्षेत्र में प्रगति तकनीकी के कारण ही संभव हो पायी है। कृषि के क्षेत्र में तकनीकी से कृषि विकास की अपार संभावनाएं है। कृषि के क्षेत्र में शिक्षा हेतु तकनीकी का सहयोग सराहनीय रहा है। आज कोविड महामारी के समय तकनीकी के माध्यम से ही शिक्षा एवं परीक्षा सफलता पूर्वक करायी जा रही है। उ0प्र0 सरकार द्वारा छात्र-छात्राओं के तकनीकी सशक्तिकरण हेतु टैबलेट वितरण कार्यक्रम अच्छा एवं सराहनीय कदम है। यह बाते टैबलेट वितरण कार्यक्रम में मुख्य अतिथि कुलपति प्रो0 नरेन्द्र प्रताप सिंह ने कही। उ0प्र0 सरकार द्वारा छात्र-छात्राओं को शिक्षा में तकनीकी सशक्तिकरण हेतु टैबलेट वितरण कार्यक्रम का आयोजन बांदा कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय, बांदा में किया गया। 

टैबलेट वितरण करते अतिथि व मौजूद अन्य लोग

कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि डा0 दीपाली गुप्ता, प्रधानाचार्य, राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय रही। साथ ही कुलसचिव डा0 एस0के0 सिंह, अधिष्ठाता उद्यान डा0 एस0वी0 द्विवेदी, अधिष्ठाता छात्र कल्याण डा0 वी0के0 िंसह की उपस्थिति में विश्वविद्यालय के 102 छात्र/छात्राओं को टैबलेट कवर सहित वितरित किये गये। विश्वविद्यालय के कुलसचिव डा0 एस0के0सिंह ने बताया कि कृषि महाविद्यालय के 25, उद्यान महाविद्यालय के 34, वानिकी महाविद्यालय के 40 एवं सामुदायिक विज्ञान महाविद्यालय के 3 छात्र/छात्राओं को टैबलेट वितरित किया गया। जिला बांदा के टैबलेट वितरण नोडल अधिकारी, डा0 दीपाली गुप्ता ने बताया कि टैबलेट वितरण के पहली खेप में विश्वविद्यालय के बी0एस0सी0 फाइनल वर्ष के छात्र/छात्राओं का चयन किया गया है शीघ्र ही शेष बचे हुए स्नातक के छात्रों एवं एमएससी, पीएचडी, के छात्र/छात्राओं को भी टैबलेट उपलब्ध कराया जायेगा। वितरण कार्यक्रम में सम्बोधित करते हुए कुलसचिव डा0 एस0के0 सिंह ने छात्रों को टैबलेट का सदुपयोग करने तथा उसके दुरूपयोग एवं परिणाम के बारे में आगाह किया। कार्यक्रम के आयोजन में कुलसचिव कार्यालय से डा0 राजीव उमराव, उपकुलसचिव, महाविद्यालयों के नोडल अधिकारी डा0 यश गौतम, डा0 बिजेन्द्र कुमार सिंह, डा0 अन्नू, एवं डा0 सौरभ का विशेष सहयोग रहा।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages