गौशाला में मवेशियों घुट-घुटकर तोड़ रहे दम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, March 27, 2022

गौशाला में मवेशियों घुट-घुटकर तोड़ रहे दम

खमरखा गौशाला का हाल बेहाल, जिम्मेदार बेपरवाह 

तमाम गोवंश शिथिल, गिन रहे हैं आखिरी सांसें 

कमासिन, के एस दुबे । योगी सरकार ने गौवंश की सेवा और उन्हें सुरक्षित रखने के उद्देश्य से गौशालाएं खुलवाईं थीं, लेकिन ये गौशालाएं गौवंशो के लिये मौत शाला बन गई हैं। इनको सरकारी कसाईखाना कहा जाए तो अतिश्योक्ति नहीं होगी। गौशाला में भूख और प्यास से मवेशी तड़पकर मर रहे हैं। इसके साथ ही शिथिल अवस्था मे जमीन पर पड़े गोवंश को कौवे नोच रहे हैं। वहीं मृतक गौवंशो को सचिव व प्रधान द्वारा बिना पोस्टमार्टम करवाये चुपचाप दफन कर दिया जाता है, ताकि किसी को भनक न लग सके। ताजा मामला विकास खंड कमासिन खमरखा ग्राम पंचायत में बने अस्थाई गौशाला का सामने आया है, वहां पर आज रविवार को सुबह करीब आठ बजे तक भूख और प्यास से तीन गौवंशो ने दम तोड़ दिया। करीब तीन से चार गाय जमीन में पड़ी आखिरी सांसें गिन

खमरखा गांव में अस्थाई गौशाला में मृत पड़े गौवंश

रही हैं। केंद्र में मौजूद गौशाला कर्मी चुनकौना ने बताया कि सप्ताह में केवल एक बार भूसा दिया जाता है, शेष दिन केवल पुआल व मसूर लाही का भूसा खिलाया जाता है। प्रधान प्रतिनिधि भानुप्रसाद कहते हैं कि सरकार द्वारा हमें कोई पैसा नही दिया जाता है, हम क्या करें। वहीं जब इस संबंध में खंड विकास अधिकारी डा. प्रभात द्विवेदी से जानकारी ली गई तो उन्होंने ने बताया कि गौवंश के मरने की सूचना मिली है, ग्राम पंचायत अधिकारी दिलीप गुप्ता को मौके पर भेजा है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages