रंग डालने पर दो पक्षों में हुआ खूनी संघर्ष व बवाल - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Saturday, March 19, 2022

रंग डालने पर दो पक्षों में हुआ खूनी संघर्ष व बवाल

मारपीट व बवाल में तीस लोगों समेत एसओ हथगाम व पांच सरकारी कर्मी घायल

एसपी, एएसपी, एसडीएम व हथगाम थाने के वाहनों पर पथराव, क्षतिग्रस्त 

फतेहपुर, शमशाद खान । किशनपुर थाना क्षेत्र में रंग डालने के विरोध में किशनपुर कस्बे में शुक्रवार शाम दो पक्षों में खूनी संघर्ष व बवाल हुआ। मारपीट में दोनों पक्ष से करीब 30 लोग व एसओ हथगाम सहित पांच सरकारी कर्मचारी घायल हो गए, जबकि एसपी, एएसपी, एसडीएम खागा, हथगाम थाने की गाड़ियों पर पथराव कर उन्हें क्षतिग्रस्त कर दिया गया। पुलिस को घटना नियंत्रित करने में कई घंटे लगे। पुलिस ने बवाल को लेकर तीन एफआईआर दर्ज की हैं। इसमें 45 लोगों को नामजद व 242 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। 

किशनपुर थाना क्षेत्र के सरौली इंटर कॉलेज के पास शुक्रवार दोपहर करीब डेढ़ बजे रंग डालने, कपड़े फाड़ने को लेकर दो गुटों (सिंगरौर व सोनकर बिरादरी) के बीच खूनी संघर्ष हो गया। कपड़े फाड़ने का विरोध करने पर सोनकर जाति के लोगों ने सिंगरौर जाति के युवकों को पीट दिया और इसके बाद सिंगरौर जाति के लोगों ने एकजुट होकर सोनकर बिरादरी के लोगों पर हमला कर दिया। दोनों गुटों के बीच शुक्रवार देर रात तक विवाद की स्थिति बनी रही। दोनों गुटों के लोगों ने पूरे कस्बे में जिसको जहां पर पाया, वहीं पर लाठी-डंडा, बल्लम, फरसा, कुल्हाड़ी से मार-मारकर लहूलुहान कर दिया। सूचना पर किशनपुर सहित अन्य थानों से भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा। देर शाम तक चेयरमैन किशनपुर (सोनकर बिरादरी) व उनके भाई (जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि) कौशाम्बी को हिरासत में लेने से सजातीय लोग भड़क उठे और पुलिस टीम पर पथराव कर दिया। इसमें आधा दर्जन पुलिस-प्रशासनिक कर्मचारी घायल हो गए। दिन के करीब डेढ़ बजे से देर रात तक चले कई घंटे के बवाल के बाद पुलिस ने शुक्रवार देर रात स्थिति पर नियंत्रण किया। मौके पर डीएम अपूर्वा दुबे, एडीजी प्रयागराज प्रेम प्रकाश, अधीक्षक राजेश सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सहित फतेहपुर व कौशाम्बी जिले के कई थानों का पुलिस बल व पीएसी मौके पर पहुंची और स्थिति को नियंत्रित किया। किशनपुर थाने में घटना को लेकर तीन एफआईआर दर्ज की गई हैं। इसमें 45 नामजद व 242 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। घटना में करीब 30 लोगों के घायल होने की जानकारी मिली हैं। चेयरमैन किशनपुर को हिरासत में लेने पर हुए पथराव में एसडीएम खागा, डीएम, एसपी, अपर पुलिस अधीक्षक, एसओ हथगाम की गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गईं। स्थिति पर नियंत्रण रखने के लिए ड्रोलन कैमरे की मदद भी ली जा रही है। 

घटनास्थल पर मौजूद डीएम-एसपी एवं पकड़े गए आरोपी।

बवाल पर दोनों पक्षों से ये हुए घायल

बवाल व मारपीट में दोनों पक्ष से सवेन्द्र दत्त, संदीप वर्मा, श्यामबाबू, रामबाबू, जीतेंद्र कुमार, जयकरन सिंह, नरोत्तम निषाद, अतुल कुमार निषाद, अनुज सिंह, अनिलेश, शिवसागर सिंह, बृजेश सोनकर, रितेश सोनकर, दीपू रैदास, कमलेश रैदास, रितेश कुमार, गोलू सोनकर, राहुल सोनकर, छेदी, वीरेंद्र, मोहित शुक्ल, मुरली सोनकर, रावेंद्र सोनकर व विनोद सोनकर घायल हो गए।

सात आरोपियों को भेजा जेल 

किशनपुर पुलिस ने सौहार्द बिगाड़ने वाले सात आरोपियों को पकड़कर न्यायालय भेज दिया। किशनपुर कस्बे में होली त्योहार में रंग खेलते समय आपसी सौहार्द बिगाड़ कर मारपीट करने वाले सरौली गांव निवासी तेज सिंह पुत्र रामदत्त, संदीप वर्मा पुत्र गया प्रसाद, इंद्रजीत सिंह पुत्र रामशंकर व किशनपुर निवासी कौशिक सोनकर पुत्र लालमन सोनकर, रितेश सोनकर पुत्र रामभवन, दीपू रैदास पुत्र रामस्वरूप, महन्दापुर मंझनपुर कौशांबी निवासी राहुल सोनकर पुत्र हरी सोनकर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

रंग लगाने के विवाद में हुए बवाल पर दोषियों पर सेवन सीएलए एक्ट के तहत सरकारी कार्य में बाधा डालकर पथराव करने का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराकर उपचार कराया जाएगा। तनाव को दृष्टिगत रखते हुए पांच थानों का फोर्स मुस्तैद कराकर एक कंपनी पीएसी भी बुला ली गई है। माहौल शांत कराने के बाद सभी दोषियों की गिरफ्तारी की जाएगी- राजेश कुमार सिंह, एसपी।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages