हसरत मोहानी व तहरीक-ए-आजादी पर हुई प्रतियोगिताएं - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, March 17, 2022

हसरत मोहानी व तहरीक-ए-आजादी पर हुई प्रतियोगिताएं

भाषण में अफशा, पोस्टर में मरियम व निबंध में महजबी ने हासिल किया प्रथम स्थान 

फतेहपुर, शमशाद खान । शहर के डा. भीमराव अंबेडकर राजकीय महाविद्यालय में गुरूवार आजादी के अमृत महोत्सव के तहत हसरत मोहानी व तहरीक-ए-आजादी पर प्रतियोगिताएं कराई गई। भाषण में अफशा, पोस्टर में मरियम व निबंध में महजबी ने प्रथम स्थान हासिल किया। अतिथि ने हसरत मोहानी की जिंदगी व आजादी से संबंधित वाक्यात साझा करते हुए गजलों से समा बांध दिया। 

कार्यक्रम में हिस्सा लेते अतिथि व छात्राएं।

प्रतियोगिताओं का मूल्यांकन मुख्य अतिथि क़मर सिद्दीकी और विशिष्ट अतिथि डॉ. शाहिद खान, अंग्रेजी विभागाध्यक्ष डॉ प्रशांत द्विवेदी और हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ. उत्तम कुमार शुक्ला ने किया। मुख्य अतिथि ने शेर पढ़ा ‘‘वह आते जाते क़मर को सलाम करता है अगर ए दोस्त कभी हाल पूछता हमसे।’’ विशिष्ट अतिथि डॉ. शाहिद ने हसरत मोहानी पर वक्तव्य दिया। साथ ही अपनी एक गज़ल सुनाई ‘‘मक़ाँ शीशे का अपना हो गया है, बदन पत्थर के जैसा हो गया है।’’ कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्राचार्य डॉ अपर्णा मिश्रा ने कहा कि हमारे यहां सांस्कृतिक और साहित्यिक कार्यक्रमों को आयोजित करने का मुख्य उद्देश्य छात्राओं को देश की ऐतिहासिक और सांस्कृतिक विरासत का ज्ञान देना है क्योंकि छात्राएं देश का उज्जवल भविष्य हैं। कार्यक्रम की संयोजिका उर्दू विभागाध्यक्ष डॉ. जिया तसनीम रहीं। जिन्होंने पूरे कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार की। साथ ही संचालक का दायित्व भी निभाया। धन्यवाद ज्ञापन अंग्रेजी विभागाध्यक्ष डॉ. प्रशांत द्विवेदी ने किया। इस अवसर पर डॉ. गुलशन सक्सेना, डॉ शकुंतला, डॉ. लक्ष्मीना भारती, डॉ. उत्तम कुमार शुक्ल, भारती, डॉ. चारु मिश्रा, डॉ अजय कुमार, रमेश सिंह, अनुष्का, राज कुमार, अशोक कुमार कश्यप भी मौजूद रहे। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages