कार्य धरातल पर नहीं दिखा तो होगी कार्यवाही : डीएम - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, March 4, 2022

कार्य धरातल पर नहीं दिखा तो होगी कार्यवाही : डीएम

मिशन इन्द्रधनुष, पोलियो, निक्षय अभियान की समीक्षा कर अधिकारियों को दिए निर्देश

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शुभ्रान्त कुमार शुक्ल की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में मिशन इन्द्रधनुष अभियान के चौथे चरण, पल्स पोलियो अभियान, राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम के संबंध में संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक संपन्न हुई।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. मुकेश पहाडी ने बताया कि इंद्रधनुष का अभियान सात मार्च से प्रारंभ किया जा रहा है जो तीन चरणों में चलेगा। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. भूपेश द्विवेदी को निर्देश दिए कि टीकाकरण का डेटाबेस कितना है। जिसके अनुसार एक माइक्रो प्लान तैयार कराकर टीकाकरण कार्य कराया जाए। उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए कि धरातल पर कार्य चाहिए। अन्यथा सख्त कार्रवाई हेगी। प्रभारी चिकित्सा अधिकारी क्षेत्रों पर बीएचएसएनडी टीकाकरण

बैठक में निर्देश देते डीएम।

अभियान के दौरान सक्रिय रहकर कार्य करें। सेशन में संशाधन की कमी हो तो वहां पर पहले से ही पूर्ण करा दें। ताकि टीकाकरण के दौरान कोई समस्या न हो। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग व बाल विकास विभाग को पता है कि बीएचएसएनडी के दौरान अगर सही तरीके से परीक्षण व टीकाकरण हो जाए तो समस्या ही नहीं उत्पन्न हो सकती। जिलाधिकारी ने जिला पंचायत राज अधिकारी तुलसीराम को निर्देश दिए कि ग्राम स्तरीय अधिकारी, कर्मचारियों को निर्देश जारी करें कि टीकाकरण पल्स पोलियो अभियान, क्षय रोग नियंत्रण कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग का सहयोग कर अधिक से अधिक लोगों को लाभान्वित कराएं। जहां पर सैम-मैम बच्चे अधिक है वहां पर स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाकर कार्य करें। प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास महेंद्र कुमार पटेल को निर्देश कि जिन आंगनबाड़ी केंद्रों पर मशीन आदि की कमी हो तो तत्काल सूची उपलब्ध कराएं।

जिला क्षय रोग नियंत्रण अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रीय क्षय रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अन्तर्गत 9 से 22 मार्च तक जनपद में सक्रिय टीबी रोगी खोज अभियान चलाया जाएगा। इस अभियान में 76 टीमें घर-घर भ्रमण कर लोगों को टीवी के लक्षण बताएंगे। टीवी के प्रति जागरूक करेंगे। टीवी के लक्षण वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनके बलगम की जांच कराई जाएगी। बलगम जांच धनात्मक पाए जाने पर टीवी का संपूर्ण इलाज निःशुल्क होगा। इलाज अवधि में क्षय रोगी को निक्षय पोषण अभियान के अंतर्गत पांच सौ रुपए प्रति माह की आर्थिक सहायता भी मिलेगी। प्रति वर्ष की भांति 24 मार्च को विश्व टीवी दिवस के रुप में मनेगा। जिलाधिकारी ने कहा कि यह चेक कराएं कि किस क्षेत्र में टीबी के रोगी अधिक है। वहां पर अधिक फोकस कर स्वास्थ्य लाभ दिलाया जाए। जिन लोगों को टीबी चौंपियन में चयनित किए गए हैं उन्हें अच्छी तरह से प्रशिक्षण दें। सीएमओ को निर्देश दिए कि नीति आयोग के सूचकांकों में कमी न आएं। प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों के कार्यों की नियमित समीक्षा भी करें।

जिलाधिकारी ने पल्स पोलियो एनआईडी अभियान की समीक्षा की। जिसमें 20 से 28 मार्च तक चलेगा। 20 मार्च को बूथ दिवस, 21, 22, 23, 24, 25 मार्च तक ए टीम द्वारा हाउस टू हाउस भ्रमण एवं जीरो से 5 वर्ष के बच्चों को प्रतिरक्षण का कार्य तथा 28 मार्च को बी टीम घर-घर जाकर एक्स घरों में जीरो से 5 वर्ष के बच्चों को प्रतिरक्षण का कार्य किया जाएगा। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी ने बताया कि इस अभियान में 543 बूथ, 313 टीमें, 93 पर्यवेक्षक, 35 ट्रांजिट टीमें लगाई गई है। 175575 बच्चों को लक्षित किया गया है। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी से कहा कि तहसील व ब्लॉक स्तर पर बैठक उप जिलाधिकारियों की अध्यक्षता में अवश्य कराया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि जो माइक्रो प्लान पल्स पोलियो अभियान का बनाया गया है उसी प्रकार से सभी टीमों को लगाकर बूथों के अलावा हाउस टू हाउस पल्स पोलियो की खुराक बच्चों को पिलाई जाए। बैठक में जिला विकास अधिकारी आरके त्रिपाठी, जिला पंचायत राज अधिकारी तुलसीराम, अधिशासी अधिकारी रामअचल कुरील, मानिकपुर राम आशीष वर्मा, राजापुर बीएन कुशवाहा, प्रभारी जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास महेंद्र कुमार पटेल सहित संबंधित अधिकारी, प्रभारी चिकित्सा अधिकारी मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages