चौथी बार विधायक बनीं कृष्णा को मंत्रिमंडल में इस बार मिल सकती जगह - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, March 13, 2022

चौथी बार विधायक बनीं कृष्णा को मंत्रिमंडल में इस बार मिल सकती जगह

योगी कैबिनेट में शामिल होने की कवायद के बीच अटकलों का शुरू हुआ दौर

क्षेत्र की जनता से लगातार जुड़ाव जीत की हैट्रिक की बड़ी वजह 

फतेहपुर, शमशाद खान । विधानसभा चुनाव 2022 के परिणाम में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी को सूबे की सत्ता में एक बार फिर से काबिज़ रहने का जनादेश दिया है। जनता का आदेश मिलने के बाद योगी सरकार 2.0 के गठन की रूप रेखा बनना शुरू हो गई है। नई सरकार के गठन को लेकर निवर्तमान सीएम योगी आदित्यनाथ भाजपा शीर्ष नेतृत्व के साथ बैठक कर मंत्रिमंडल का खाका खींचने में लगे हुए हैं। 

खागा की नवनिर्वाचित विधायक कृष्णा पासवान।

योगी सरकार के नए मंत्रिमंडल में शामिल होने के लिए जनपद के खागा विधानसभा से जीतकर चौथी बार विधानसभा पहुंची कृष्णा पासवान सबसे प्रबल दावेदारी पेश कर रही है। जीत की हैट्रिक लगाने वाली खागा विधायक भारतीय जनता पार्टी से चौथी बार विधायक बनी है। 2002 में पहली बार किशनपुर सुरक्षित क्षेत्र से 27274 वोट हासिल करने वाली कृष्णा पासवान के सामने बसपा उम्मीदवार मुरलीधर 26488 वोट ही पा सके 684 मतों से जीत हासिल कर विधायक बनने के बाद कृष्णा पासवान ने 2012, 2017 व 2022 में लगातार जीत की हैट्रिक लगाते हुए इतिहास रच दिया। 2007 के विधानसभा चुनाव में 33490 वोट के बाद भी पराजय का मुंह देखना पड़ा। बसपा उम्मीदवार मुरलीधर को 38357 मत मिले। बसपा उम्मीदवार मुरलीधर के हाथों शिकस्त खाने के बाद 2012 के विधानसभा चुनाव में 59234 मत हासिल किए जबकि बसपा प्रत्याशी मुरलीधर 40312 पर ही सिमट गए। 2017 के विधानसभा चुनाव में सपा व कांग्रेस पार्टी के गठबंधन के बाद भी 94945 मत पाकर गठबंधन उम्मीदवार ओम प्रकाश गिहार को 38520 मतों पर ही सिमटते हुए भारी मतों के अंतर से जीत हासिल की। वर्ष 2012 से जीत का सिलसिला 2022 के विधानासभा चुनाव में भी जारी रहा 2022 विधानसभा चुनाव में कृष्णा पासवान 83735 मत हासिल कर विजयी रही। वहीं निकटतम प्रतिद्वंदी सपा उम्मीदवार रामतीर्थ परमहंस को 78226 मतों से ही संतोष करना पड़ा। 2022 के विधानसभा चुनाव में कृष्णा पासवान को 41.87 प्रतिशत मत मिले जबकि सपा उम्मीदवार को 39.12 प्रतिशत वोट हासिल कर सके। जानकारो की माने तो खागा सुरक्षित सीट से विधायक कृष्णा पासवान की क्षेत्र में लगातार सक्रियता की वजह से अपने वोटों पर मंज़बूत पकड़ रखती है जो कि विधानसभा चुनाव में अहम जीत की भूमिका अदा करता है। 2017 के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने जीत का इतिहास रचते हुए जनपद की सभी छह सींटो पर जीत की इबारत लिखी थी। जिसमें सदर विधानसभा से विक्रम सिंह, खागा से कृष्णा पासवान, अयाह शाह से विकास गुप्ता, बिंदकी से करण सिंह पटेल विधायक चुने गए जबकि जहानाबाद से जय कुमार जैकी व हुसैनगंज विधानसभा से रणवेंद्र प्रताप धुन्नी सिंह विधायक बनने के बाद योगी मंत्रिमंडल में राज्यमंत्री के पद को सुशोभित किया। विधानसभा चुनाव 2022 में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी को सदर व हुसैनगंज विधानसभा सीट से हाथ धोना पड़ा। सदर विधानसभा से विक्रम सिंह व हुसैनगंज से विधायक एवं राज्यमंत्री रणवेंद्र प्रताप धुन्नी सिंह को हार का मुंह देखना पड़ा। जबकि जहानाबाद विधायक व राज्यमंत्री रहे जय कुमार सिंह जैकी ने बिंदकी विधानसभा से जीत हासिल की। वहीं जहानाबाद सीट से राजेन्द्र पटेल व खागा से कृष्णा पासवान भी जीत की इबारत लिखने में कामयाब रहे। पूर्व की योगी सरकार में अब तक जनपद से दो राज्यमंत्री थे जिसमें से अपना दल कोटे से जय कुमार सिंह जैकी पुनः विधायक बनने के बाद योगी 2.0 में मंत्री पद के लिए प्रबल दावेदार हैं जबकि धुन्नी सिंह के चुनाव हारने के बाद रिक्त स्थान पर लगातार चौथी बार विधायक बनने वाली कृष्णा पासवान योगी मंत्रिमंडल में शामिल होने के लिए प्रबल उम्मीदवार मानी जा रही है। खागा विधायक कृष्णा पासवान के मंत्रिमंडल में शामिल होने की अटकलों के बीच समर्थकों में जबरदस्त उत्साह देखा रहा है। योगी 2.0 मंत्रिमंडल में कितने मंत्री होंगे किस विधायक को मंत्रिमंडल में जगह मिलती है यह तो सरकार के गठन व मंत्रिमंडल विस्तार के बाद ही साफ हो सकेगा।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages