एक में सपा और तीन विधानसभाओं में भाजपा ने बाजी मारी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, March 10, 2022

एक में सपा और तीन विधानसभाओं में भाजपा ने बाजी मारी

नरैनी से ओममणि, तिंदवारी से रामकेश और सदर से प्रकाश दोबारा विधायक निर्वाचित 

बबेरू में भाजपा प्रत्याशी को हराकर सपा के विशंभर सिंह यादव ने लहराया सपाई परचम 

बांदा, के एस दुबे । जनपद की चारों विधानसभाओं की मतगणना मंडी समिति परिसर में कड़ी सुरक्षा के बीच शुरू हुई। मतगणना का दौर ज्यों-ज्यों तेज होता गया त्यों-त्यों परिणाम भी आने लगे। तकरीबन चार बजे तक आए

ओममणि वर्मा

परिणामों में भाजपा ने नरैनी, तिंदवारी और सदर सीट पर विजय हासिल की। जबकि बबेरू सीट में भाजपा प्रत्याशी को मात देते हुए समाजवादी पार्टी ने विजय हासिल की। सभी विजेताओं को निर्वाचन अधिकारी ने प्रमाण पत्र
प्रकाश द्विवेदी

वितरित किए। इसके बाद सभी प्रत्याशी जुलूस की शक्ल में शहर भ्रमण के लिए निकल पड़े। संकट मोचन मंदिर के साथ ही देव स्थानों पर मत्था टेकते हुए विजेताओं ने जनता का आभार प्रदर्शन किया। इधर, मंडी समिति में सुरक्षा का कड़ा पहरा रहा। प्रेक्षक और जिला निर्वाचन अधिकारी लगातार मतगणना स्थल का निरीक्षण करते रहे। 

रामकेश निषाद

आयोग द्वारा निर्धारित किए गए समय के मुताबिक गुरुवार को सुबह आठ बजे मतगणना का सिलसिला शुरू हुआ। सबसे पहले पोस्टल वैलेट की गिनती की गई। इसके बाद ईवीएम मशीनों से मतगणना का सिलसिला शुरू किया
विशंभर सिंह यादव

गया। मतगणना शुरू होने के साथ ही जहां प्रशासन पूरी तरह से गंभीर नजर आया, वहीं प्रत्याशी और उनके समर्थक भी साइलेंट नजर आए। जैसे-जैसे मतगणना का सिलसिला आगे बढ़ा और परिणाम आने शुरू हुए तो
रामकेश निषाद को प्रमाण पत्र सौंपते निर्वाचन अधिकारी

संबंधित प्रत्याशियों के समर्थकों में हलचल तेज होती चली गई। मतगणना के दौरान सबसे पहले तिंदवारी विधानसभा का परिणाम आया। 28 राउंड की गिनती के बाद जिला निर्वाचन अधिकारी ने भाजपा के प्रत्याशी रामकेश निषाद को विजयी घोषित किया, उन्हें कुल 86812 वोट मिले। जबकि उनके विपक्षी व तिंदवारी विधानसभा
मतगणना स्थल का जायजा लेकर बाहर निकलते निर्वाचन अधिकारी अनुराग पटेल

से ही पूर्व में भाजपा से विधायक रहे सपा प्रत्याशी बृजेश प्रजापति को 58367 वोट मिले। इसके बाद सदर विधानसभा सीट के 24 राउंड की गिनती हुई, जिसमें जिसमें भाजपा प्रत्याशी प्रकाश द्विवेदी को 81557 वोट मिले। जबकि सपा से प्रत्याशी मंजुला सिंह को 66343 वोट ही मिले। इस तरह 15214 वोट से प्रकाश द्विवेदी को विजयी
जुलूस निकालते प्रकाश द्विवेदी, रामकेश निषाद व ओममणि वर्मा

घोषित किया गया। नरैनी से भाजपा प्रत्याशी ओममणि वर्मा 83263 वोट पाकर 6719 मतों से विजयी घोषित की गईं। इनके प्रतिद्वंदी सपा प्रत्याशी किरन वर्मा को 76544 वोट मिले। जबकि बबेरू में भाजपा को हार का मुंह देखना पड़ा। वहां उनके प्रत्याशी अजय पटेल को 72221 मत मिले। जबकि सपा से तीसरी बार जीत दर्ज करने वाले विशंभर सिंह यादव को 79614 वोट मिले। इस तरह उन्होंने 7393 वोटों से भाजपा प्रत्याशी को परास्त कर दिया।
जीत का प्रमाण पत्र लेने जाते विशंभर सिंह यादव

परिणामों की घोषणा के बाद पर्यवेक्षक की मौजूदगी में जिला निर्वाचन अधिकारी अनुराग पटेल द्वारा सभी विजेता प्रत्याशियों को जीत का प्रमाण पत्र दिया गया। जीत का प्रमाण पत्र पाने के बाद प्रकाश द्विवेदी, ओममणि वर्मा और रामकेश निषाद एक साथ शहर में जुलूस की शक्ल में निकल पड़े। संकट मोचन मंदिर और देव स्थानों पर माथा टेकने के बाद जनता का आभार प्रदर्शन किया। जुलूस में हजारों की संख्या में भाजपाई भी उनके साथ चल रहे थे। जगह-जगह पर इनका स्वागत भी किया गया। इधर, सदर विधानसभा व तिंदवारी विधानसभा में पहले राउंड से ही
प्रमाण पत्र लेकर विजयी मुद्रा में बाहर आते सदर विधायक प्रकाश द्विवेदी

भाजपा ने बढ़त बना ली थी। हालांकि सपा की साइकिल भी यहां बराबर पीछा करती हुई नजर आई। यह जरूर हुआ कि वह कमल को छू पाने में कामयाब नहीं हुई और बीच रास्ते में ही टायर की हवा निकल गई। नरैनी विधानसभा में भी दो-एक राउंड में सपा ने भाजपा को रोकने की कोशिश की, पर उसकी अंतिम परिणाम आते-आते चल नहीं पाई। जबकि बबेरू विधानसभा में शुरुआती दो-चार राउंड में कमल खिलता रहा और साइकिल उसका पीछा करती रही। करीब 10 राउंड पार करने के बाद दोनो के बीच आंख मिचौली का खेल शुरू हुआ, तो 20वें राउंड के बाद साइकिल ने रफ्तार भरना शुरू की और शेष आठ राउंड की गिनती में साइकिल की इतनी रफ्तार बढ़ी कि कमल उसे छू भी नहीं सका। 

गले मिलकर एक-दूसरे को जीत की बधाई देते प्रकाश द्विवेदी व रामकेश निषाद

पहले अधिवक्ता, फिर जिलाध्यक्ष और अब माननीय बने रामकेश 

बांदा। भाजपा जिलाध्यक्ष के तौर पर कुछ समय ही गुजारने के बाद पार्टी ने रामकेश निषाद को तिंदवारी विधानसभा सीट से प्रत्याशी बना दिया। वह जनता के बीच पहुंचे और जनता ने उन पर भरोसा करते हुए अपना जनप्रतिनिधि चुनाव और अब रामकेश माननीय बन गए। इसी तरह नरैनी नगर पंचायत अध्यक्ष रहीं ओममणि वर्मा को भाजपा ने नरैनी विधानसभा से अपना प्रत्याशी बना दिया था। चुनाव में ओममणि ने शानदार जीत दर्ज की। नगर पंचायत से निकलकर ओममणि वर्मा अब विधानसभा तक पहुंच गईं। वर्ष 2017 में पहली बार सक्रिय राजनीति के तहत भाजपा से सदर विधानसभा में जीत का परचम लहराने वाले प्रकाश द्विवेदी पर जनता ने अबकी बार भी भरोसा जताया और एक बार फिर से उन्हें विधानसभा पहुंचाया है। दूसरी बार निर्वाचित हुए प्रकाश द्विवेदी ने कहा कि वह जनता की उम्मीदों पर खरे उतरेंगे। वर्ष 2007 और 2012 में समाजवादी परचम लहराते हुए बबेरू विधानसभा से विधायक बने विशंभर सिंह यादव 2017 में भाजपा की प्रचंड लहर में चुनाव हार गए थे। पांच वर्ष का वनवास काटने के बाद एक बार फिर जनता उन पर भरोसा जताया। विशंभर सिंह यादव ने भाजपा के प्रत्याशी अजय पटेल को पटखनी देते हुए एक बार फिर जीत दर्ज की है। 

ओममणि वर्मा को जीत का प्रमाण पत्र देते निर्वाचन अधिकारी

भाजपाइयों ने मनाया जीत का जश्न, दागे पटाखे 

बांदा। भाजपा को पूर्ण बहुमत हासिल होते ही भाजपा कार्यकर्ताओं में उत्साह देखने को मिला। भाजपाइयों ने एक सप्ताह पहले ही रंग गुलाल उड़ाकर होली मनाई। पटाखे फोड़कर होली के साथ दिवाली भी मनाई। भाजपा सरकार को पूर्ण बहुमत हासिल होते ही भाजपाइयों ने जश्न मनाना शुरू कर दिया। जगह-जगह भाजपाई ढोल नगाड़ों के साथ खुशियां मनाई। होली पर्व से एक सप्ताह पहले ही भाजपाइयों ने होली के साथ की होली शुरू हो गई है। जिलेभर में भाजपा कार्यकर्ताओं में हर्षाल्लास का माहौल है। भाजपाइयों ने जीत के बाद सांसद और जिलाध्यक्ष के साथ जमकर गुलाल उड़ाया और मिठाई बांटकर जश्न मनाया। गुरुवार का दिन भाजपाइयों के लिए होली से भी बड़ा दिन रहा। यूपी विधानसभा में बंपर जीत के साथ जिले चार में से तीन सीट जीतने पर भाजपाइयों में जश्न का माहौल है। भाजपा का एक-एक कार्यकर्ता पार्टी की प्रचंड जीत की खुमारी में डूबा रहा।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages