मुखौटे-पिचकारियों से सजे बाजार, रंग-गुलाल की हुई खरीददारी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, March 17, 2022

मुखौटे-पिचकारियों से सजे बाजार, रंग-गुलाल की हुई खरीददारी

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। होली के त्योहार के मद्देनजर गुरुवार को पूर्व से सजी दुकानों में रंग-बिरंगी पिचकारी, अबीर, गुलाल तथा रंग की जमकर खरीददारी लोगों ने की। बाजारों में चाइना की पिचकारियां भी सजी हुई हैं। बच्चों के अभिभावकों ने चाइना की पिचकारियां एवं रंग-गुलाल के साथ-साथ बच्चों के मनपसंद सामग्री रंग-बिरंगी टोपी एवं मुखौटों की खरीददारी की।

दुकानों में सजी पिचकारियां, रंग-गुलाल।

मुख्यालय के दुकानों समेत कस्बों में जमकर भीड देखने को मिली। अधिकांश लोगों ने होली के त्योहार का सामान व होली खेलने के लिये रंग, गुलाल, पिचकारियां आदि खरीदे। गौरतलब है कि देश के सबसे बडे त्योहार होली पर्व पर जहां एक ओर महिलायें घरों को साफ-सुथरा करने में कई दिन पूर्व से जुटी हुई है, वहीं गुरुवार को अधिकांश लोगों के घरों में गुझिया, रसगुल्ले, चिप्स, पापड, मठरी, नमकीन आदि पकवान बनाये गये। वहीं बच्चों ने रंगों व गुलालों से लोगों को सराबोर करने के लिये दुकानों में पहुंचकर जमकर खरीददारी की। बाजारों में इन दिनों पिचकारियां, कार्टून, पोगोमैन, डोरेमान आदि मुखौटे आकर्षक का केन्द्र बने हैं। जिन्हें बच्चों के अलावा युवाओं ने भी खरीदे। जिला मुख्यालय सहित मऊ, बरगढ, रैपुरा, भौरी, मानिकपुर, राजापुर, पहाडी, शिवरामपुर, सीतापुर, भरतकूप आदि प्रमुख बाजारों पर जगह-जगह रंगों की दुकानें सजायी गई है। बाजारों में रासायनयुक्त रंगों का भी भरमार है। रंग-बिरंगे गुलाल के बाजार भी सजे हैं। त्योहार को उत्साह के साथ मनाने के लिये घरों में कंडे के बल्ले बनाकर होलिका दहन में डालने को बना रखे हैं। जिन्हें होलिका में डालकर एक-दूसरे से बदलकर अपने-अपने घरों में लाये। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages