आज के विद्यार्थी कल के वैज्ञानिक - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, February 28, 2022

आज के विद्यार्थी कल के वैज्ञानिक

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर आयोजित हुए कार्यक्रम

बच्चो ने विज्ञान प्रश्नोत्तरी, निबंध लिख अपने कौशल का किया प्रदर्शन  

खागा/फतेहपुर, शमशाद खान । राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर पंडित सूर्यपाल रमाशंकर राममूरत पांडेय निष्पक्ष देव विद्या मंदिर इंटर कालेज गुरसंडी में विज्ञान प्रश्नोत्तरी  का आयोजन किया गया। विज्ञान के उत्कृष्ठ विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया। विज्ञान के प्रति विद्यार्थियों के रुझान के लिए प्रतिवर्ष यह आयोजन किया जाता है।

कार्यक्रम में हिस्सा लेते स्कूली बच्चे।

आयोजित प्रतियोगिता में कक्षा 6 से 12 तक के 325 विद्यार्थी शामिल हुए। जिनको जूनियर और माध्यमिक श्रेणियों में रखा गया। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता बुंदेलखंड राष्ट्र समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण पांडेय ने बच्चों को बताया कि रमन प्रभाव की खोज के कारण ही राष्ट्रीय विज्ञान दिवस मनाया जाता है। इस खोज की घोषणा 28 फरवरी 1928 में भारतीय वैज्ञानिक सर चंद्रशेखर वेंकट रमन (सर चंद्रशेखर वेंकटरमन) की थी। इस खोज के लिए सर चंद्रशेखर वेंकटरमन को 1930 में नोबल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। राष्ट्रीय विज्ञान दिवस मनाने का उद्देश्य विद्यार्थियों की विज्ञान के प्रति आकर्षित करना होता है। साथ ही विज्ञान को जनसाधारण तक उपलब्ध कराना होता है। हम सब जानते हैं कि आज की तारीख में हो रहे विकास, विज्ञान के कारण ही संभव हो पाते हैं। विज्ञान के माध्यम से नागरिक तकनीक और ऊंचाइयों को हासिल कर सकते हैं। इस दिन पूरे भारत में वैज्ञानिक सोच का प्रसार करना होता है। साथ ही विज्ञान से होने वाले लाभों के प्रति समाज में जागरूकता लाना और लोगों में वैज्ञानिक सोंच को पैदा करना होता है। सम्मानित किए गए विद्यार्थियों में अंशिका, अंकिता, ऋषभ, रिया, अंशनी, अनिका, प्रियंका, नितेश, प्रीति रही। कार्यक्रम में विद्यालय के समस्त आचार्य, विद्यार्थी  शामिल हुए। अंकुश त्रिपाठी, प्रांशु आदित्य, बाबू लाल, दीपक यादव, रंजन, आशीष सूर्या आदि ने विद्यार्थियों को संबोधित किया।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages