राजेंद्र के विधायक बनने से उपेक्षित कार्यकर्ताओं को मिलेगी राहत : साध्वी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, February 11, 2022

राजेंद्र के विधायक बनने से उपेक्षित कार्यकर्ताओं को मिलेगी राहत : साध्वी

कारागार राज्यमंत्री पर बीजेपी स्टार प्रचारक ने कार्यकर्ताओं की उपेक्षा करने का मढ़ा आरोप

वीडियो वायरल होने के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं में बढ़ी बेचैनी  

फतेहपुर, शमशाद खान । विधानसभा चुनाव को फतह के लिए चुनावी रणभेरी में भारतीय जनता पार्टी एड़ी-चोटी का जोर लगा रही है। 238 जहानाबाद विधानसभा के भाजपा प्रत्याशी एवं पूर्व मंत्री राजेंद्र पटेल के चुनावी कार्यालय का उद्घाटन करने पहुंची बीजेपी की स्टार प्रचारक एवं केंद्रीय राज्यमंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने एकाएक ऐसा बयान दे डाला जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होते ही बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच बेचैनी बढ़ गई। उन्होने यहां से बीजेपी-अपना दल गठबंधन के विधायक व कारागार राज्यमंत्री जय कुमार सिंह जैकी पर विधानसभा क्षेत्र के कार्यकर्ताओं की उपेक्षा किए जाने का आरोप मढ़ते हुए वर्तमान प्रत्याशी को जिताने का आहवान किया। उन्होने कहा कि राजेंद्र के विधायक बनने से उपेक्षित कार्यकर्ताओं को राहत मिलेगी। 

कार्यकर्ताओं को संबोधित करतीं बीजेपी स्टार प्रचारक केंद्रीय राज्यमंत्री साध्वी निरंजन ज्योति।

उद्घाटन के दौरान कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए केंद्रीय राज्यमंत्री एवं स्टार प्रचारक निरंजन ज्योति ने कहा कि कोई भी भाजपा का कार्यकर्ता प्रत्याशी बनकर आया है तो हम उनके लिए जी जान से लगेंगे लेकिन कई बार दूध का जला हुआ व्यक्ति छाँछ पीने से भी डरता है। मेरी बात गंभीरता से सुनें क्योंकि पिछली बार अपना दल गठबंधन प्रत्याशी जय कुमार सिंह जैकी को कार्यकर्ताओं ने उत्साह के साथ सारे समाज के लोगों ने जिताया था, लेकिन पांच साल तक कहीं न कहीं कार्यकर्ताओं की उपेक्षा हुई है। सामाजिक समीकरण की भी उपेक्षा होती रही है। उम्मीद है कि पूर्व मंत्री राजेंद्र पटेल के विधायक बनने के बाद यहां उपेक्षित कार्यकर्ताओं को राहत मिलेगी। इतना कहना चाहती हूँ कि आप सब लोगों ने देखा होगा कि मुझे सात वर्ष हो गए मैंने कभी भी किसी के साथ पक्षपात करके राजनीति नहीं की। मैंने पार्टी हित में काम किया है। पार्टी के कार्यकर्ता के लिए काम किया है। इसी तरह से विधायकों की भी जिम्मेदारी बनती है। कोई भी व्यक्ति एक समाज के बल पर न तो सांसद बन सकता है और न ही विधायक बनता है। जनप्रतिनिधि किसी एक समाज का नहीं होता। कोई भी चुनाव हो चाहे छोटा हो या बड़ा, एक जात के बल पर कोई मंत्री नहीं बन सकता जब तक सारे समाज का प्रतिनिधित्व नहीं होता। इस बयान का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल होने के साथ ही कार्यकर्ताओं के बीच उहापोह की स्थिति भी बनने लगी है। कार्यकर्ता और समर्थकों के बीच ही पड़ोसी विधानसभा के गठबंधन प्रत्याशी को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं शुरू हो गई हैं। गठबंधन प्रत्याशी के लिए बिंदकी विधानसभा फतह करना आसान नहीं होगा। जातीय समीकरण की माने तो बिंदकी में जातिगत उलटफेर की संभावनाएं बढ़ती जा रही हैं। जिससे दलों के साथ कार्यकर्ताओं में हलचल बढ़ जाने से गठबंधन प्रत्याशी के साथ बीजेपी पदाधिकारियों में भी जातिगत समीकरण प्रभावित कर सकता है। ऐसे में बिंदकी से जय कुमार सिंह की कैसे विजय होगी यह भविष्य के गर्भ में है। वैसे तो राजनीति संभावनाओं का खेल है, जहां कुछ भी तय नहीं होता। राजनीति में समय के साथ बदलाव भी होते रहे हैं।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages