छोड़ के अपने सारे काम, पहले चलो करें मतदान - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, February 21, 2022

छोड़ के अपने सारे काम, पहले चलो करें मतदान

मतदाता जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन

बांदा, के एस दुबे । भारत एक प्रजातांत्रिक देश है और इस देश में चुनाव से बड़ा कोई पर्व नहीं है। जिसमें हम अपना योगदान वोट के माध्यम से कर सकते हैं। योग्य सरकार चुनने की जिम्मेदारी हम सभी की है। यह बात केसीएनआईटी में आयोजित मतदाता जागरूकता अभियान कार्यशाला में संस्थान के निदेशक डा. अजीत कुमार ने कही। उन्होंने सभी शिक्षकों से अपील की कि आप सभी अपनी जिम्मेदारियों का निर्वाह करते हुए छात्र एवं समाज को जागरूक कर उन्हें शतप्रतिशत मतदान के लिए प्रेरित करें।

मतदाता जागरूकता कार्यशाला में मौजूद शिक्षक व अन्य

गौरतलब हो कि विधानसभा चुनाव की प्रक्रिया चल रही है। 23 फरवरी को मतदान होना है। इस कड़ी में प्रत्येक मतदाता अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें। केसीएनआईटी संस्थान द्वारा भी मतदाता जागरूकता अभियान की कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें विद्यार्थियों के साथ-साथ प्रोफेसर, सहायक प्रोफेसर, अध्यापक एवं अन्य कर्मचारियों ने भाग लिया तथा मतदान की आवश्यकता पर अपने-अपने विचार रखें। कार्यशाला में प्रमुख रूप से निम्न बिन्दुओं पर चर्चा हुई। क्या मतदान हमारी नैतिक जिम्मेदारी है, मतदान न करने वाले की जवाब देही तय होनी चाहिए और क्या मतदाता को निर्वाचन आयोग द्वारा दिए गये अधिकारों का ज्ञान है, आदि पर मंथन किया गया। संस्थान के स्टूडेंट वेलफेयर मैनेजर श्याम निगम ने कहा कि लोकतंत्र में अब सारी राजनीतिक गतिविधियां वोटों के गणित पर ही आधारित होकर संचालित होने लगी हैं। जनता को तरह-तरह के आश्वासन और झांसे दिये जाते है। जनता चुनाव के अवसर पर सही व्यक्ति को वोट देकर लोकतंत्र की रक्षा कर सकती है। आप सभी से अपील है कि अपने विवेक से काम लेकर उपयुक्त, ईमानदार और जनहित के लिए प्रतिबद्ध व्यक्ति के पक्ष में ही मतदान करें। डा. प्रशान्त द्विवेदी ने कहा कि चुनाव, क्योंकि लोकतंत्र की अनिवार्य शर्त और सफलता की कसौटी भी है। प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य हो जाता है कि वह उसके प्रति सावधान रहे। कई बार ऐसा भी होता है कि कुछ लोग यह सोचकर चुनावों के समय मत प्रयोग नहीं भी करते कि हमारे एक मत के न डलने से क्या बनने-बिगड़ने वाला है? पर वस्तुतः बात ऐसी नहीं। कई बार हार-जीत का निर्णय केवल एक ही वोट पर निर्भर हुआ करता है। इस कार्यक्रम में हरिओम राठौर, शैलेन्द्र अग्रवाल, शैलेन्द्र नाथ पाठक, सुप्रिया ओमर, शैलेन्द्र चौरसिया, जितेन्द्र सिंह गौतम, अमित श्रीवास्तव, मनीष अवस्थी, प्रसून श्रीवास्तव, प्रमोद अवस्थी, नीरज तिवारी, श्री राघवेन्द्र तिवारी, मानुल गुप्ता आदि उपस्थित रहें। कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों ने शतप्रतिशत मतदान करने की शपथ ली।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages