पिता की इच्छा थी कि मैं डाक्टर बनूं : सरसैया - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, February 1, 2022

पिता की इच्छा थी कि मैं डाक्टर बनूं : सरसैया

जिला अस्पताल में समारोह पूर्वक दी गई विदाई  

बांदा, के एस दुबे । जिला अस्पताल के हड्डी रोग विशेषग्य डाक्टर टीआर सरसैया 28 साल 11 महीने 29 दिन की सफल नौकरी कर के 31 जनवरी को रिटायर हो गए। 31 जनवरी की शाम डाक्टर सरसैया के आवास में बिदाई समारोह का आयोजन हुआ जिसमे स्वास्थ विभाग के साथ साथ समाज सेवी, पत्रकार,आदि सैकड़ों लोगों ने उन्हें उपहार भेंट करके शुभकामनाएं दीं। मंगलवार को जिला अस्पताल में अस्पताल प्रशासन की तरफ से डाक्टर टीआर सरसैया का विदाई समारो आयोजित किया गया, इसमें सीएमएस एसएन मिश्रा सहित कई डाक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ ने उन्हें भावभीनी विदाई दी।

जिला अस्पताल में बुके भेंट करते सीएमएस व अन्य

समाहरोह में बोलते हुए डाक्टर टीआर सरसैया ने कहा कि उनके पिता की इच्छा थी कि मैं डाक्टर बनूं, मेरे डाक्टर बनने के बाद मेरी पहली पोस्टिंग 2 फरवरी 1993 को ललितपुर के जखौरा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में हुई थी। इसके बाद 1995 में महोबा ट्रांसफर हो गया। 2001 तक महोबा रहे। इसके बाद बांदा पोस्टिंग हो गई। 2001 से 2016 तक बांदा रहे। 2016 में फिर महोबा के लिए ट्रांसफर हो गया और 2019 में महोबा से फिर बांदा भेज दिया गया। और जिला अस्पताल बांदा से वह सेवानिवृत्त हो गए। परिवार में मैं पहला डाक्टर हूँ। मेरे बाद मेरे परिवार के कई अन्य सदस्य भी डाक्टर बने। मैने अपने पूरे कार्यकाल में सच्चे मन से मरीजों की सेवा की है और मैं अपने कार्य से संतुष्ट हूं। सीएमएस एसएन मिश्रा ने कहा कि हमारे अस्पताल से बहुत योग्य डाक्टर जा रहा है, जिसकी कमी हमे हमेशा खलेगी। वहीं, फिजियोथेरेपी विभाग के डा. निशांत मौर्य, डा. सौरभ चौहान, पूजा ने डा. सरसैया को स्मृति चिन्ह भेंट किया। इस अवसर पर डाक्टर आरके गुप्त, डाक्टर एसके बाजपेयी, डाक्टर केएल पांडे, डाक्टर बीपी वर्मा, डाक्टर अशोक गुप्ता, डाक्टर नरेंद्र गुप्ता, डाक्टर शाहिद, डाक्टर करण राजपूत, डाक्टर भूपेंद्र सिंह, डाक्टर विनीत सिंह, डाक्टर संगीता सिंह, डाक्टर ऊषा सिंह, डाक्टर संजीव कुमार, डाक्टर चारू गौतम, डाक्टर विष्णु गुप्ता, डाक्टर शुशील सिंह, डाक्टर अनुराग पुरवार, डाक्टर नरेंद्र राजपूत, डाक्टर विनीत सचान सहित बहुत से डाक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ मौजूद रहा। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages