शर्मनाक : ट्रैक्टर से घसीटकर दफनाए जा रहे मृत गोवंश - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, January 7, 2022

शर्मनाक : ट्रैक्टर से घसीटकर दफनाए जा रहे मृत गोवंश

पूर्व प्रधान ने मुख्य विकास अधिकारी से की शिकायत 

बबेरू, के एस दुबे । एक तरफ सूबे की सरकार है कि गौवंश संरक्षण का दावा कर रही है, वहीं दूसरी ओर भूख से मर रहे गोवंश को ट्रैक्टर से घसीटकर जेसीबी मशीन द्वारा गड्ढा खोदकर दफनाने का शर्मनाक कृत्य किया जा रहा है। यह कृत्य मझिला गांव की अस्थाई गौशाला का है। गांव के पूर्व प्रधान रामप्रकाश ने जनसुनवाई केंद्र के जरिए मुख्य विकास अधिकारी से शिकायत की है। 

मझिला गांव में मृत गोवंश को इस तरह ट्रैक्टर में बांधकर घसीटा जा रहा

तहसील क्षेत्र के ग्राम महिला निवासी पूर्व ग्राम प्रधान रामप्रकाश ने जनसुनवाई केंद्र के माध्यम से मुख्य विकास अधिकारी को संबोधित शिकायती पत्र में बताया कि गांव में अस्थाई गौशाला में बंद गोवंश के लिए चारा-भूसा का कोई इंतजाम नहीं है। गोवंशों की भूख प्यास से मौत हो रही है। गुरुवार और शुक्रवार को सात गोवंश की मृत्यु हो गई। इन मृत गोवंशों को ग्राम प्रधान के पति व व अन्य लोगों ने ट्रैक्टर ट्राली में बांधकर गौशाला से घसीटते हुए जेसीबी मशीन द्वारा खोदे गए गड्ढे तक ले जाया गया और दफना दिया गया। मृत गोवंश को ट्रैक्टर से घसीटना शर्मनाक है। मृत गोवंश की फोटो लेने पर कई लोगों ने मारपीट की और अभद्रता करते हुए अपमानित किया। पूर्व प्रधान रामप्रकाश ने 112 नंबर डायल कर पुलिस को सूचना दी। मौके पर पुलिस भी पहुंच गई। मुख्यमंत्री से भी शिकायत की गई, इस पर थाने जाने की बात कही गई। हमलावरों ने जान से मारने की धमकी दी है। पुलिस मौके से बैरंग वापस लौट गई। केई कार्रवाई नहीं हुई। ग्राम पंचायत मझिला में बांकायदा ग्राम पंचायत सचिव की तैनाती है।
अस्थाई गौशाला में ठिठुर रहे भूखे गौवंश

अस्थाई गौशालाओं की देखभाल चारा भूसा पानी रहने आदि की व्यवस्था की देखभाल संबंधित ग्राम पंचायत सचिव की है। अस्थाई गौशालाओं में बंद गोवंशों की जो मौतें हो रही हैं, उसमें संबंधित ग्राम पंचायत के सचिव की लापरवाही है। पीड़ित ने मुख्य विकास अधिकारी सहित उच्चाधिकारियों को भेजे गए शिकायती पत्र में अपनी जान माल की सुरक्षा एवं उपरोक्त लोगों के विरुद्ध कानूनी कार्यवाही किए जाने की मांग की है। वही अस्थाई गौशालाओं में बंद गोवंशो कि जो भूख प्यास से तड़प तड़प कर हो रही मौतों पर अंकुश लगाए जाने एवं उनके खाने पीने रहने आदि की समुचित व्यवस्था कराए जाने की मांग की है। उच्चाधिकारियों से ग्राम महिला में बनी अस्थाई गौशाला का स्थलीय निरीक्षण कराए जाने की भी मांग की है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages