ठंड में ठिठुर रहे मुसाफिर को दिया सहारा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, January 16, 2022

ठंड में ठिठुर रहे मुसाफिर को दिया सहारा

कंबल देकर गंतव्य तक जाने का दिया किराया 

फतेहपुर, शमशाद खान । गैर प्रांत सूरत से अपने घर जा रहे दंपति का बैग व पैसे चोरी हो जाने पर भीषण ठंड के बीच ठिठुरने को मजबूर थे। गंतव्य तक जाने के लिए पैसे भी न थे। इस बीच भोजन जन सेवा समिति के सक्रिय सदस्य ने जब दंपति की हालत देखी तो उनसे बातचीत की। दंपति की मजबूरी को समझते हुए सक्रिय सदस्य ने उन्हें सहारा दिया और ठंड से बचने के लिए कंबल देकर गंतव्य तक जाने का किराया दिया। दंपति ने सक्रिय सदस्य की भूरि-भूरि प्रशंसा की। 

मुसाफिर दंपति को कंबल देते भोजन जन सेवा समिति के सदस्य।

पड़ोसी जनपद बांदा के कमासिन गांव निवासी पवन अपनी पत्नी रामकलिया के साथ सूरत में रहकर साड़ी छपाई का काम करता है। ट्रेन से वह अपने गृह जनपद आने के लिए पत्नी के साथ निकला था। चोरों ने भुसावल के पास उनका बैग गायब कर दिया। जिसमें पैसों से भरा पर्स भी था। चोरी हो जाने पर उन्होने ट्रेन के टीटी से अपनी परेशानी बताई। टीटी ने दरियादिली दिखाते हुए दंपति को खाना खिलाकर फतेहपुर तक भेजा। उनका सफर अभी यहीं खत्म नहीं हुआ। अब उनके पास कमासिन बांदा जाने के लिए किराया नहीं था। ज्वालागंज बस स्टैंड पर कुछ देर भटकने के बाद नम आंखें किसी नेक व्यक्ति को ढूंढ रही थी। इधर उधर भटक रहे दंपत्ति को देख भोजन जन सेवा समिति के सक्रिय सदस्य राजू राईन ने भांप लिया कि यह परेशान हैं जिन्हें बुलाकर जानकारी ली। पीड़ित पवन ने अपनी आपबीती बताई। राजू ने समिति के संस्थापक कुमार शेखर को जानकारी दी कि गोद में छोटी सी बच्ची है। कपड़ों से भरा बैग और पैसे चोरी हो गए हैं। ठंड से बुरा हाल है। समिति के संस्थापक के निर्देशन में सक्रिय सदस्य ने देर न करते हुए नाश्ता करवाया। ठंड से बचाने के लिए कंबल देकर बांदा जा रही बस में टिकट करवा कर भेज दिया। मदद पाकर रमकलिया पत्नी पवन के चेहरे पर खुशी आई और भावुक होकर दबी जुबान से शुक्रिया अदा करने लगी।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages