तेज रफ्तार बनी मौत का सबब, दो युवकों की मौत - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, January 14, 2022

तेज रफ्तार बनी मौत का सबब, दो युवकों की मौत

डिगंवाही में बोलेरो ने युवक को मारी टक्कर, युवक की मौत के बाद हाइवे जाम 

शहर में स्टेडियम के पास बाइक दुर्घटनाग्रस्त  

बांदा, के एस दुबे । अलग-अलग दो सड़क हादसों में शहर कोतवाली के डिंगवाही गांव में एक बोलेरो जीप ने युवक को टक्कर मार दी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। बोलेरो जीप में पुलिस का स्टीकर लगा होना बताया गया। हादसे के बाद जीप अनियंत्रित होकर पलट गई। जीप सवार चालक व एक अन्य मौके से भाग निकले। घटना से नाराज लोगों ने हाइवे जाम कर दिया और नारेबाजी की। इस दौरान बसपा नेता मौके पर पहुंचे और किसी तरह से ग्रामीणों को समझाया। बाद में पुलिस ने आश्वासन दिया, तब कहीं जाकर एक घंटे बाद जाम खुल सका। दूसरी दुर्घटना में शहर के स्टेडियम की दीवार से बाइक टकरा गई, इसमें एक युवक की मौत हो गई। दूसरा घायल हो गया। मृतक युवक अपने पिता की इकलौती संतान बताया गया। 

घटनास्थल पर ग्रामीणों को समझाते बसपा नेता धीरज राजपूत

पहली दुर्घटना में नगर कोतवाली क्षेत्र के डिंगवाही गांव में रहने वाला जितेंद्र (35) पुत्र बुलारे विश्वकर्मा गांव में साइकिल रिपेयरिंग की दुकान करता था। गुरुवार रात वह अपनी दुकान बंदकर अपने घर जा रहा था। तभी तेज रफ्तार बोलेरो जीप ने उसे जोरदार टक्कर मार दी। मौके पर ही जितेंद्र की मौत हो गई। हादसे के बाद चालक ने वाहन समेत भागने का प्रयास किया। इस पर अनियंत्रित बोलरो रोड किनारे नाले में घुस गई। घटना के कुछ देर बाद ग्रामीणों की भीड़ मौके पर जमा हो गई। हादसे से नाराज ग्रामीणों और परिजनों ने शव हाइवे पर रखकर जाम लगा दिया। खबर पाकर बसपा नेता धीरज राजपूत भी मौके पर पहुंचे। पुलिस अधिकारियों और बसपा नेता के समझाने पर ग्रामीण माने और तकरीबन एक घंटे बाद जाम खुल सका। दूसरी सड़क दुर्घटना में शहर के शंभू नगर मुहल्ला निवासी विवेक (18) पुत्र राजेंद्र वर्तमान में जरैली कोठी मुहल्ला निवासी अपनी बुआ के यहां रहता था। शुक्रवार को मकर संक्रांति के मौके पर वह अपने पड़ोसी सौरभ (25) के साथ बाइक में सवार होकर केन नदी जा रहा था। जरैली कोठी से बाइक सवार अभी स्टेडियम के पास ही पहुंचे थे, तभी अनियंत्रित होकर बाइक स्टेडियम की दीवार से जा टकराई। इस हादसे में विवेक की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि सौरभ गंभीर रूप से घायल हो गया। खबर पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने एंबुलेंस के जरिए घायल को जिला अस्पताल में भर्ती कराया, वहां उसका उपचार किया जा रहा है। इधर, विवेक की मौत हो जाने के बाद परिवारीजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। मालुम हो कि विवेक बीए द्वितीय वर्ष का छात्र था। सबसे दुखद बात यह है कि विवेक अपने पिता की इकलौती संतान था। परिवारीजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages