डीएम और एसपी ने मंडल कारागार का किया निरीक्षण - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, January 21, 2022

डीएम और एसपी ने मंडल कारागार का किया निरीक्षण

बैरिकों में ली गई तलाशी, संदिग्ध वस्तु नहीं मिली 

सुरक्षा व्यवस्था को लेकर दिए गए दिशा निर्देश  

बांदा, के एस दुबे । चित्रकूटधाम मण्डल कारागार में अव्यवस्थाएं न हों, यह हो नहीं सकता। बावजूद इसके जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक जब औचक निरीक्षण करते हैं, तब भी उन्हें कोई खामी नजर नहीं आती। बंदियों के कारागार में किन अव्यवस्थाओं से जूझना पड़ता है, यह किसी से छिपा नहीं है, लेकिन निरीक्षण के बाद अधिकारी कारागार की व्यवस्थाओं और वहां के प्रशासक को क्लीन चिट दे देते हैं। शुक्रवार को जिलाधिकारी अनुराग पटेल और पुलिस अधीक्षक अभिनंदन ने मंडल कारागार का औचक निरीक्षण किया। वहां इन दोनो अधिकारियों को सब कुछ दुरुस्त मिला है। मसलन सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त रखे जाने के निर्देश दिए गए हैं। 

निरीक्षण के बार कारागार से बाहर निकलते अधिकारीगण

शुक्रवार को जिलाधिकारी और एसपी ने कारागार का औचक निरीक्षण किया। औचक निरीक्षण के दौरान उन्होंने कारागार के अंदर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। बैरकों में भी देखा और बंदियों से बातचीत भी की। कारागार की बैरक में निरुद्ध बंदी आखिर बोले भी क्या, अधिकारियों ने जो बोला, उसी पर अपना सिर हिलाकर बंदियों ने भी सब कुछ दुरुस्त बताया। औचक निरीक्षण के दौरान कारागार अधीक्षक ने जिलाधिकारी को बताया कि वर्तमान समय में कारागार में 1056 कैदी निरुद्ध है। जबकि वर्तमान में कारागार में कुल 580 बंदियों को रखने की क्षमता है। अब सोंचने वाली बात यह है कि क्षमता से तकरीबन दो गुना बंदी कारागार में निरुद्ध हैं तो अव्यवस्थाएं किस कदर हावी होंगी, यह बयां करपाना मुमकिन नहीं है। बैरक में बंद बंदियों से भी जिलाधिकारी और एसपी ने बातचीत की। बंदियों एवं बैरक की सघन तलाशी के दौरान कोई भी अनाधिकृत सामग्री नहीं पाई गई। इधर अधिकारियों ने जेल अधीक्षक को निर्देशित किया कि सभी बंदियों को मास्क अवश्य लगवाया जाए तथा वर्जित सामग्री किसी भी दशा में अंदर न लाने दिया जाए एवं कोविड टीकाकरण शत-प्रतिशत सुनिश्चित कराएं। तत्पश्चात जेल अस्पताल का जायजा लिया गया। जहां चिकित्सक पद पर तैनात डा. गुलाब चंद्र ने डीएम को बताया कि जेल अस्पताल में कुल 17 बंदी भर्ती है। निरीक्षण के दौरान अस्पताल में भर्ती बंदियों से उनकी बीमारियों के संबंध में जानकारी प्राप्त की गई। वहीं डीएम अनुराग पटेल ने चिकित्सक को निर्देशित किया कि भर्ती मरीजों का नियमित उपचार किया जाए। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages