खेतों में पानी भर जाने से बर्बाद हो रही फसलें - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, January 9, 2022

खेतों में पानी भर जाने से बर्बाद हो रही फसलें

तिंदवारी, के एस दुबे । लगातार हो रही बारिश से किसानों के खेतों में गेंहू, मटर, सरसों, मसूर, अरहर, प्याज़ और सब्जियों के खेतों में पानी भर जाने से फसलें बर्बाद होने लगी हैं। फसलों के फूल गिर गए हैं। अरहर की फसलें हवा के कारण नीचे गिर गई हैं। इसका भयानक असर अगले एक सप्ताह बाद दिखाई देगा।  फसलों में पानी भरे होने से जड़े सड़ जायेगी। केवल गेंहू के खेतों में भरे पानी को अगर निकाल दिया जाय तो कुछ बचाया जा सकता है, लेकिन हर खेत में पानी भरे होने से वह भी संभव नही है। कृषि के जानकार किसान धनराज सिंह, रामगोपाल प्रजापति, राजेन्द्र तिवारी के मुताबिक इस बारिश से 90 से 95 प्रतिशत फसलें बर्बाद हो जायेगीं। यह असर भी एक सप्ताह बाद साफ नजर आएगा। जैसे ही फ़सलों की जड़े सड़ेगीं वह पिला पड़ने के साथ जमीन में गिर जायेगीं। इस बार फसलें अच्छी थी, लेकिन इस बारिश ने सब बर्बाद कर दिया। कस्बे के अलावा क्षेत्र के पिपरगवां, भुजौली, गोधनी, तेरही माफ़ी, बेंदा, जौहरपुर, पिपरहरी, सहिंगा, परसौड़ा, भुजरख, सेमरी, गोखरही, महुई, पपरेन्दा, चिल्ला, जसपुरा, खपतिहा कला, पैलानी आदि में हुई बारिश से किसानों की फसलें बर्बाद हुई हैं।

बारिश से खेतों में भरा पानी और डूबी फसलें

नही लग रहा टोल फ्री नंबर 

तिंदवारी। क्षेत्र के जिन किसानों ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत अपनी फ़सलों का बीमा करवा लिया था, अब उन किसानों को सरकार द्वारा जारी टोल फ्री नम्बर 18008896868 पर कॉल करके फसल खराब होने की शिकायत दर्ज कराना है, लेकिन इस नम्बर पर कॉल करने पर लगातार व्यस्त बता रहा है। जिन किसानों की कॉल इस नम्बर पर लगी उनको यह जवाब देकर काट दिया गया कि ब्लॉक के अधिकारी आकर खराब हुई फसल का सर्वे करेंगे। बीमा करवा चुके किसान भी ठगे से महसूस कर रहे हैं। किसानों ने बीमा कम्पनी पर ठगी करने का आरोप लगाया है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages