टीएसी टीम बनाकर कराई जाए गबन की जांच - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Saturday, January 1, 2022

टीएसी टीम बनाकर कराई जाए गबन की जांच

निर्माण कार्य समिति निवर्तमान अध्यक्ष ने जिलाधिकारी से की मांग  

बांदा, के एस दुबे । निर्माण कार्य समिति के निवर्तमान अध्यक्ष व जिला पंचायत सदस्य अरुण कुमार सिंह ने जिलाधिकारी को दिए गए शिकायती पत्र में मांग की है कि क्षेत्र पंचायत कमासिन में किए गए सरकारी धन के गबन की जांच कराई जाए। बताया कि क्षेत्र पंचायत कमासिन में विकास कार्यों के लिए राज्य वित्त आयोग व 15वां वित्त आयेग योजना के तहत व अन्य मदों से प्रापत सरकारी धन को ब्लाक प्रमुख, खण्ड विकास अधिकारी कमासिन की मिलीभगत में अपने मनमाफिक फर्म से सामग्री आपूर्ति के टेण्डर गोपनीय तरीके से अधिक दरों में कराकर अपने मनचाहे सप्लायरों से आपूर्ति ली गई। इसके साथ ही मनचाहे कार्यप्रभारी नियुक्त करके ब्लाक प्रमुख के छोटे भाई बुद्धविलास द्वारा खुद का कराया जाता है, जो पुराने कार्यों के ऊपर कार्य दिखाकर शासन के नियमों के विपरीत गांवों के अंदर कार्य कराकर सरकारी धन का गबन किया जा रहा है। 

अमलोखर में बनाई गई सीसी सड़क, जो उखड़ने लगी

ग्राम पंचायत नरायनपुर में मेनरोड से गोरेलाल के घर तक सीसी व नाली का निर्माण लगभग 7.17 लाख का क्षेत्र पंचायत कमासिन में वर्ष 2021-22 में एक माह पूर्व कराया गया है, जो ग्राम पंचायत से पूर्व में बने खड़ंजा के ऊपर मात्र 7 सेंटीमीटर मोटी सीसी डालकर व नाली में प्लास्टर करके नया दिखाकर व सीसी के किनारे ग्राम पंचायत के पुराने खड़ंजा की बाकसि्ंग लगाकर संपूर्ण कार्य नया दिलाकर भुगतान निकाला गया है। ग्राम पंचायत बंथरी में मेन रोड से हरिजन बस्ती की ओर जिला पंचायत से वष्र 2016-17 व 2020-21 में दो बार के टेण्डर में लगभग 800 मीटर गिट्टी, मिट्टी सोलिंग, 200 मीटर लंबाई में सीसी कार्य मात्र 7 सेंटीमीटर थिकनिस डालकर वर्ष 2021-22 में दो माह पूर्व पूरा भुगतान 10 लाख रुपए निकाल लिया गया। इसी तरह ग्राम पंचायत अमलोखर में मुख्य रोड से अंशू कोटार्य के घर की ओर सीसी निर्माण कार्य लागत 7.11 लाख में ग्राम पंचायत में पूर्व में बने खड़ंजा व सोलिंग के ऊपर मात्र सात सेंटीमीटर मोटी का टापकेट डालकर व बाक्सिंग में थर्ड नंबर ईंट लगाकर संपूर्ण नया कार्य कराना दिखाकर भुगतान कराया गया। जिलाधिकारी को दिए गए शिकायती पत्र में अरुण कुमार सिंह ने यह भी बताया कि इसके अलावा जो भी कार्य कराए गए हैं, उन्हें सभी की हालत ऐसी ही है। सभी निर्माण दो माह में ही खराब होने लगे हैं। निर्माण कार्यों में सीमेंट की मात्रा स्टीमेट से बहुत कम लगाई गई है। पास की बागेन नदी से बिना एमएम 11 के राजस्व की चोरी की उपयोग की गई बालू का इस्तेमाल किया गया है। कार्य गुणवत्ताविहीन होने की वजह से ज्यादा दिन तक नहीं चलेंगे, अभी से ही खराब होने लगे हैं। अरुण कुमार सिंह ने क्षेत्र पंचायत कमासिन में किए गए कार्यों में सरकारी धन की गबन की जांच की टीएसी टीम बनाकर कराया जाना आवश्यक है। जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages