मतदाता को दें आरोपी प्रत्याशियों के केसों की सूची : अनिल - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, January 12, 2022

मतदाता को दें आरोपी प्रत्याशियों के केसों की सूची : अनिल

वोटों से ही ताकतवर बनते हैं जनप्रतिनिधि

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। मतदाता पर्ची के साथ गंभीर अपराधों के आरोपियो के दर्ज  मुकदमो की सूची मतदाता पर्ची के साथ टैग कर जिला प्रशासन को प्रत्येक मतदाता को देनी चाहिए। 

यह बात एडीआर के प्रदेश कोऑर्डिनेटर अनिल शर्मा ने महामति प्राणनाथ महाविद्यालय मऊ में आयोजित चुनाव सुधार एवं युवा संवाद विषयक संगोष्ठी में कही। उन्होंने कहा कि देश को आजाद हुए 75 साल हो गए हैं, लेकिन मतदाताओं को लोकतंत्र इतिहास चुनाव आयोग और एडीआर द्वारा किए गए चुनाव सुधारों के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है। उन्हें उनके वोट से चुने जाने वाले सांसद और विधायकों के बारे में भी ज्यादा जानकारी नहीं है। इसलिए मतदाताओं को अपनी जानकारी बढ़ानी चाहिए। जब उनके पास जानकारी होगी तो वह बेहतर लोकतंत्र बनाने में सक्षम होंगे। श्री शर्मा ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने और चुनाव आयोग ने सभी राजनीतिक दलों को स्पष्ट

संगोष्ठी में बोलते पदाधिकारी।

निर्देश दिए हैं कि वह गंभीर रूप से अपराधों के आरोपी प्रत्याशी को एक टिकट देते हैं तो उन्हें इसका कारण चुनाव आयोग को बताना पड़ेगा कि हमने इस गंभीर अपराधों के आरोपी व्यक्ति को क्यों टिकट दिया। इतना ही नहीं सुप्रीम कोर्ट ने यह भी निर्देश सभी राजनीतिक दलों को दिया है कि वह ऐसे अपराध प्रत्याशियों का आपराधिक रिकॉर्ड एक टीवी चैनल तथा दो सबसे ज्यादा उस क्षेत्र में प्रकाशित होने वाले अखबारों में दी जाए। निर्देशों का पालन जिला प्रशासन बड़ी आसानी से कर सकता है। वह मतदाता पर्ची के साथ गंभीर अपराधों के आरोपी प्रत्याशियों के मुकदमों की सूची भी मतदाता पर्ची के साथ यदि टैग कर देंगे तो हर मतदाता तक जानकारी पहुंच जाएगी। देश के चर्चित कवि केशव तिवारी ने कहा जो जिसका कार्य क्षेत्र है वह वहां जाकर मतदाताओं की जागरूकता का काम करें। एक जगह सभा या बैठक कर लेने से आम गरीब जो साधनविहीन है उसके पास तक वह विचार नहीं पहुंचता है। यदि राजनीति को अपराधविहीन करना है तो जनप्रतिनिधियों की लाभ की व्यवस्था को खत्म करना पड़ेगा। विद्यालय के प्रबंधक सुंदरलाल सुमन ने कहा कि मतदाता एक हनुमान की तरह है। जिसे अपने बल और अधिकार की जानकारी नहीं है। एडीआर और चुनाव आयोग यह जानकारी हनुमान रूपी मतदाताओं को दे रहा है। इस अवसर पर एसडीएम मऊ नवदीप शुक्ला, तहसीलदार शशिकांतमणि, ईओ राम आशीष वर्मा, ओएस कर्मोत्तम सिंह ने भी विचार व्यक्त किए। संचालन स्वीप कोआर्डिनेटर डा. एस. कुरील ने किया।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages