आहार शुद्धि के बिना योग सिद्धि दुर्लभ : रमेश - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, January 12, 2022

आहार शुद्धि के बिना योग सिद्धि दुर्लभ : रमेश

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। मुख्यालय के कुबेरगंज, शंकर बाजार में विश्व योग सेवा ट्रस्ट के संस्थापक योगाचार्य रमेश सिंह राजपूत ने ट्रस्ट का स्थापना दिवस मनाया। उन्होंने बताया कि आज के ही दिन 2019 को सर्वभूत हितेरताः की भावना से ट्रस्ट की स्थापना की गई थी। राष्ट्रीय युवा दिवस व भारतीय संस्कृति और योग के महान उन्नायक स्वामी विवेकानंद की जयंती के अवसर पर उपस्थित बच्चों, युवाओं व वृद्धों को योगाभ्यास कराया गया। योगाचार्य ने बताया कि कब, क्या और कितना खाना अर्थात आहार संयमयुक्त उठना, बैठना, सोना, जागना जब तक नहीं सधेगा तब तक

योगा कराते योगाचार्य।

योग से स्वास्थ्य ठीक करना कठिन है। योगाभ्यास, प्राणायाम और ध्यान के माध्यम से बचपन को ज्ञान युक्त, जवानी को दिशा युक्त और बुढ़ापे को चिंता मुक्त बनाते हुए प्रबुद्ध, शुद्ध व सिद्ध जीवन द्वारा देश को सामर्थ्य शाली बनाया जा सकता है। योग से इस्पात जैसी लचीली मांसपेशियां, प्राणायाम से मजबूत स्नायु और ध्यान से विशुद्ध मन, दृढ़ इच्छाशक्ति अर्जित की जा सकती है। आज आवश्यकता है सकारात्मक चिंतन, विशुद्ध मजबूत चरित्र, लक्ष्य की दिशा में अनवरत क्रियाकलापों की जिन्हें कोई भी ताकत रोक या झुका न सके और आवश्यकता हो तो लक्ष्य की प्राप्ति के लिए सागर की अतल गहराइयों में भी डूब कर मौत का मुकाबला करने के लिए तैयार रहें। कार्यक्रम में पुष्पेन्द्र सिंह, अवधेश, पंकज, धीरेंद्र सिंह, राजकुमारी, गायत्री देवी आदि मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages