लगातार बारिश से गेहूं की फसल सड़ने का खतरा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, January 7, 2022

लगातार बारिश से गेहूं की फसल सड़ने का खतरा

नरैनी, के एस दुबे । लगातार हो रही  वर्षा से चना मसूर और सरसों के बाद गेंहू की फसल सड़ने का खतरा पैदा हो गया है। धान काट कर बोए गए गेंहू के छोटे पौधे जलमग्न हो गये हैं। दो दिनों से लगातार तेज बरसात हो रही है। क्षेत्र में जल्द वर्षा नही थमी तो किसानों का बड़ा नुकसान हो सकता है। ज्यादातर किसानों की धान की फसल खलिहानों में तैयार रखी है तथा कुछ की अभी मड़ाई नहीं हुई हैं। खलिहानो में  पानी भर जाने से सारी फसल मिट्टी में मिल गई है। क्षेत्र के 60 फीसदी कृषि भूमि पर किसान धान काटकर गेंहू की बुआई करते हैं ज्यादातर खेतो में

पानी में डूबी गेहूं की फसल

अभी 20 दिनों पहले तक गेंहू की बुआई की गई हैं, इससे गेंहू के पौधे छोटे है।क्षेत्र के केवटन पुरवा निवासी लोटन ने बताया कि उनके परिवार की लगभग 60 कुंटल धान की फसल खलिहान में ही तैयार रखी थी अचानक वर्षा शुरू होने से पानी भर गया है। गंगा पुरवा गाँव निवासी पिंटू त्रिपाठी ने बताया कि उनके सहित कई किसानों का सैकड़ों कुंतल धान खलिहानों में पानी भरने से खराब हो रहा है। वहीं धान की फसल पैदा करने के बाद जो लोग गेहूँ बोते हैं उनके अभी नाजुक पौध उगे थे खेतों में पानी भर जाने के कारण गेहूँ की फसल के सड़ने का खतरा उत्पन्न हो गया है। मंहगाई की मार के बीच प्राकृतिक आपदा से क्षेत्र के किसान आहत हैं। 



No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages