मंत्री ने की गौवंश, धान केन्द्र, खाद वितरण की समीक्षा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, December 3, 2021

मंत्री ने की गौवंश, धान केन्द्र, खाद वितरण की समीक्षा

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। लोनिवि राज्यमंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय की अध्यक्षता व जिलाधिकारी शुभ्रान्त कुमार शुक्ल की उपस्थिति में अन्ना गोवंश, धान क्रय केंद्र, खाद वितरण के संबंध में समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संबंधित अधिकारियों के साथ संपन्न हुई।

समीक्षा के दौरान डिप्टी आरएमओ संजय श्रीवास्तव ने बताया कि जनपद में 10 धान क्रय केंद्र संचालित है। एक क्रय केंद्र मंडी समिति कर्वी ने खोला है। पीसीएफ के 13 क्रय केंद्र खोले जाने थे। जिसमें छह क्रय केंद्र खोले गए हैं। इस पर मंत्री ने जिलाधिकारी से कहा कि पीसीएफ के वरिष्ठ अधिकारियों से पत्राचार कर क्रय केंद्र खुलवाए जाएं। ताकि किसानों को धान बेचने में कोई समस्या न हो। जिलाधिकारी ने डिप्टी आरएमओ को निर्देश दिए कि धान

समीक्षा करते मंत्री।

क्रय केंद्रों से धान की डिलीवरी की व्यवस्था कराएं। संसाधन बढ़ाकर धान क्रय करें, क्योंकि गत वर्ष से इस वर्ष धान की खरीद कम हुई है। मंत्री ने एडीसीओ सहकारिता को निर्देश दिए कि साधन सहकारी समिति में भी धान क्रय केंद्र खोलने की व्यवस्था हो। जिसमें चिल्लीमल, क्रय विक्रय केंद्र राजापुर में अवश्य खोलें। जिलाधिकारी ने जिला कृषि अधिकारी को निर्देश दिए कि जिन साधन सहकारी समिति में धान क्रय केंद्र खोला जाता था अगर वह समितियां क्रय केंद्र खोलने से मना कर रही हैं तो उन समितियों को खाद बीज की सुविधा उपलब्ध न कराई जाए। सचिव मंडी समिति को निर्देश दिए कि जो नया क्रय केंद्र खोला जा रहा है। तत्काल मंडी कर्वी में खोलकर धान क्रय कराया जाए। मंत्री ने पीसीएफ के अधिकारियों को निर्देश दिए की ठेकेदारों का डिलीवरी तथा राइस मिल का भुगतान जो लंबित है उनका भुगतान तत्काल करें। कहा कि कार्यों में रुचि नहीं ली जा रही है। यह स्थिति ठीक नहीं है। डिप्टी आरएमओ से कहा कि किसानों का जो धान क्रय किया जा रहा है उनका समय से भुगतान कराया जाए। किसानों को कोई समस्या नहीं होना चाहिए। धान क्रय में तेजी लाई जाए। गौशाला संचालन की समीक्षा में जिलाधिकारी ने बताया कि 204 गौशालाओं का भुगतान भरण पोषण का कर दिया गया है। 86 पत्रावली अभी लंबित है। जिसका तत्काल भुगतान करा दिया जाएगा। मंत्री ने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि गोवंशों के भरण पोषण का भुगतान समय से कराएं। कोई भी पत्रावली लंबित न रहे। गोवंशों को ठंड से बचाव की व्यवस्था अलाव, तिरपाल आदि से करा दे। पशु चिकित्सा अधिकारियों से गौशाला में गोवंशों का स्वास्थ्य परीक्षण भी कराया जाए। उन्होंने खाद वितरण के संबंध में जिला कृषि अधिकारी से जानकारी की। बताया गया कि जनपद में शुक्रवार को 1484 मैट्रिक टन डीएपी खाद प्राप्त हो गई है जो साधन सहकारी समितियों को भेजा जा रहा है। अब कोई किसानों को समस्या नहीं होगी। मंत्री ने कहा कि खाद की व्यवस्था लगातार चलती रहे। बैठक में जिला कृषि अधिकारी आरपी शुक्ला, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डा. सुभाष चंद्र, डिप्टी आरएमओ संजय श्रीवास्तव, मंडी सचिव विपुल कुमार सहित संबंधित अधिकारी, ठेकेदार, राइस मिल के लोग मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages