कृषि आधारित व्यवसाय को बढ़ावा देने की जरूरत - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, December 28, 2021

कृषि आधारित व्यवसाय को बढ़ावा देने की जरूरत

तीन दिवसीय शरद मेला का कृषि भवन में एडीएम न्यायिक ने किया उद्घाटन   

फतेहपुर, शमशाद खान । राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) के सहयोग से स्वयं सहायता समूहों के उत्पादों की बिक्री एवं प्रदर्शनी हेतु तीन दिवसीय शरद मेला का आयोजन कृषि भवन में किया गया। मेला का अपर जिलाधिकारी न्यायिक धीरेन्द्र प्रताप ने फीता काटकर उद्घाटन किया और स्वयं सहायता समूहों के लगे उत्पादों के स्टालों का अवलोकन किया। उन्होंने महिलाओं के उत्पादों की प्रसंशा करते हुए उत्साहवर्द्धन किया तत्पश्चात महिला गोष्ठी में उन्होने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि आधारित व्यवसाय को बढ़ावा देने की जरूरत है। 

शरद मेले का दीप जलाकर शुभारंभ करते एडीएम न्यायिक।

नाबार्ड के जिला विकास प्रबंधक प्रसून चंद्रा ने कहा कि ग्रामीण महिलाओं को स्वरोजगार स्थापना एवं महिला सशक्तिकरण में स्वयं सहायता समूह योजना बहुत ही सफल योजना साबित हुई है। इससे महिलाओं में आत्म निर्भरता के साथ ही आय वृद्धि का साधन है। नाबार्ड के शरद मेला में स्वयं सहायता समूह के विपणन एवं ट्रेडिंग हेतु अवसर दिया गया। भविष्य में भी ऐसे आयोजन किए जाएंगे। जिससे जनपद के अन्य समूहों को भी अवसर मिल सके। उप कृषि निदेशक राम मिलन सिंह परिहार ने समूहों की महिलाओं को कृषि विभाग द्वारा दी जा रही योजनाओं की जानकारी देते हुए कहा कि अपने परिवार एवं गांव में जिसके पास जमीन है। वह विभाग की योजनाओं का लाभ ले सकते हैं। अग्रणी जिला प्रबंधक वीडी मिश्र ने कहा कि बैंकों द्वारा स्वयं सहायता समूहों को क्रेडिट लिंक कर ऋण की सुविधा है इसके साथ ही अन्य योजनाओं में भी समूह प्रोजेक्ट लगाकर अनुदान के साथ ऋण ले सकती हैं। कार्यक्रम का संचालन प्रज्ञा ग्रामोत्थान सेवा समिति के सचिव उमेश चन्द्र शुक्ल एवं जनज्योति विकास संस्था के सचिव संतोष मिश्र एवं लता फाउंडेशन के सिद्धान्त सिंह, श्रमिक भारती से इन्द्रनरायन, मान सिंह, संतोष कुमार, आशीष कुमार दीक्षित एवं महिला समूहों से राधा देवी, चेतरानी एवं बीना देवी रहीं।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages