नदिया बदहाल, बालू माफिया मालामाल - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, December 8, 2021

नदिया बदहाल, बालू माफिया मालामाल

हमेशा की तरह नदी जलधारा से अवैध खनन पर नहीं लग रहा विराम

खनिज अधिकारी का कहना-मानक के अनुरूप होता है खनन

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। इन दिनो लाल सोना के लिए खनन माफिया बेपरवाह होकर नदी से बालू निकाल रहे हैं। जिसे विभाग पूरी तरह नजरअंदाज कर रहा है। नदी से सटे किसानों की भूमि पर जबरन रास्ता निकाल कर फसल नष्ट कर देते है। कई बार इसे लेकर मारपीट व विवाद भी हुए हैं। बावजूद इसके विभागीय अकमर्ण्यता के चलते अवैध खनन बदस्तूर जारी है। जबकि डीएम, एसपी के सख्त निर्देश है कि अवैध खनन, ओवरलोड, ढुलान पर संबंधित अधिकारी रोक लगाए। 

गौरतलब हो कि खनन माफिया एनजीटी मानकों के विपरीत नदियों से अवैध तरीके से बालू निकाल रहे हैं। नदी की जलधारा से दिन रात पोकलैंड मशीनो के अलावा अन्य साधनों से बालू खनन किया जा रहा है। बताया गया कि मऊ के बियावल

नदी से अवैध तरीके से बालू ढुलान करते ट्रक।

घाट, पहाड़ी के गडौली घाट, साईपुर घाट, भरतकूप के मऊब घाट, राजापुर के डिगरी घाट में जोरो पर अवैध खनन कार्य होता है। बालू निकाल कर अवैध कमाई का जरिया ये घाट इन दिनो बने हैं। जबकि पनचक्की व मशीनो से बीच जलधारा से बालू निकालने पर पाबंदी है। बावजूद इसके विभाग की मिलीभगत से खनन माफिया दिन रात बालू निकाल कर चोरी छिपे बेंच रहे हैं। इन माफियाओं का वर्चस्व इस कदर है कि मानकों के विपरीत धड़ल्ले से नदियों का सीना चीर कर बालू निकाल राजस्व के साथ ही प्रकृति को क्षति पहुचाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं। मनबढ़ ये खनन माफिया ग्रामीणों को नही बख्श्ते है। उनकी फसलों के बीच से अवैध रास्ता बनाकर नुकसान पहुंचाते हैं। कई बार रास्ते के विवाद में बवाल हो चुका है। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि बालू ठेकेदार अवैध तरीके से बालू निकाल रहे हैं। जिससे नदियों में गहरे गढ्ढे भी हो गए हैं। साथ ही जमीने बरबाद हो रही है। ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से मांग की है कि अवैध खनन पर पूरी तरह से अंकुश लगाया जाए। इस संबंध में जिला खनिज अधिकारी ने बताया कि मानक के अनुरूप खनन कार्य हो रहा है। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages