व्यापारियों के सम्मान का प्रतीक है जीएसटी - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, December 29, 2021

व्यापारियों के सम्मान का प्रतीक है जीएसटी

कैंप आयोजित कर व्यापारियों को बताई गईं जीएसटी की बारीकियां 

मंडी समिति में पंजीयन जागरूकता कैंप का हुआ आयोजन 

बांदा, के एस दुबे । जीएसटी को लेकर सामने आ रही तमाम तरह की परेशानियों को दूर करने के लिए बुधवार को विभाग की ओर से मण्डी समिति में एक पंजीयन जागरूकता कैंप का आयोजन किया गया। इसमें व्यापारियों को जीएसटी की बारीकियां बताई गईं। साथ ही जीएसटी में पंजीयन कराने के लिए प्रेरित किया गया। 

पंजीयन जागरूकता कैंप में मौजूद व्यापारी व अधिकारीगण

कार्यालय वस्तु एवं सेवा कर असिस्टेंट कमिश्नर पवन अग्रवाल ने बताया कि जीएसटी में पंजीयन होने से व्यापारियों का 10 लाख का व्यापारी दुर्घटना बीमा हो जाता है, इसमें कोई प्रीमियम नहीं देना होता। डिप्टी कमिश्नर सेक्टर-1 सुरेन्द्र कैथल ने बताया कि जीएसटी व्यापारियों के सम्मान का प्रतीक है। व्यापारी को अपने व्यापार स्थल से ही नक्शा फाइल कर देना है और आफिस भी जाने की जरूरत नहीं पड़ती। सीटीओ जगदीष प्रसाद ने बताया कि छोटे व्यापारियों के लिए जीएसटी में समाधान योजना भी है, जिन व्यापारियों का सालाना टर्न ओवर 1.50 करोड़ रुपए तक है, वो व्यापारी समाधान योजना का लाभ ले सकता है। डिप्टी कमिश्नर जय सिंह यादव ने व्यापारियों को पंजीयन लेने के लिए जागरूक करते हुए बताया कि पंजीयन लेने से व्यापारियों को केन्द्र सरकार द्वारा पेंशन योजना का भी लाभ मिलेगा। अस्तु आप लोग जीएसटी की योजनाओं का लाभ लें और पंजीयन कराएं। विभाग आपके सहयोग के लिए है न कि आपको परेशान करने के लिए। कैंप में मंडी समिति के गल्ला व्यापारी और विभाग के कर्मचारी आदि मौजूद रहे। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages