असगर वजाहत के नाटक महाबली को व्यास सम्मान मिलने से हर्ष - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Thursday, December 9, 2021

असगर वजाहत के नाटक महाबली को व्यास सम्मान मिलने से हर्ष

ओम घाट पर हो चुका नाटक का पाठ, मिलेंगे चार लाख एवं प्रशस्ति पत्र 

फतेहपुर, शमशाद खान । हिंदी साहित्य को उपन्यास, नाटक, संस्मरण, कहानियां आदि उत्कृष्ट साहित्य देने वाले जनपद के गौरव असगर वजाहत को तुलसीदास पर आधारित उनके नाटक महाबली को व्यास सम्मान के लिए नामित किया गया है। जिसके अंतर्गत उन्हें केके बिरला फाउंडेशन की ओर से चार लाख रुपए नकद, प्रशस्ति पत्र एवं प्रतीक चिन्ह भेंट किया जाएगा। खास बात यह है कि इस नाटक का पाठ पवित्र स्थल ओम घाट पर आयोजित हो चुका है।

साहित्यकार असगर वजाहत।

फाउंडेशन के निदेशक डॉ सुरेश ऋतुपर्ण द्वारा जारी प्रेस नोट के हवाले से प्रख्यात लेखक असगर वजाहत के शिष्य कवि एवं शायर शिवशरण बंधु हथगामी द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार 2021 के व्यास सम्मान के लिए प्रख्यात लेखक डॉ असगर वजाहत के नाटक महाबली को चुना गया है। रामचरितमानस के रचयिता तुलसीदास पर आधारित इस पुस्तक का प्रकाशन 2019 में हुआ था। जनपद में इस नाटक के विषय में परिचर्चा भी हो चुकी है। इस प्रतिष्ठित सम्मान का निर्णय हिंदी साहित्य के जाने-माने विद्वान प्रोफेसर रामजी तिवारी की अध्यक्षता में एक चयन समिति ने लिया है। इस नाटक के एक अंश का पाठ करीब एक साल पहले साहित्य अकादमी दिल्ली में किया गया था। जनपद के लिए गौरव की बात यह है कि इस नाटक का पाठ स्वामी विज्ञानानंद के ओम घाट आश्रम भिटौरा में 9 दिसंबर 2018 को किया गया था। नाटक में तुलसीदास के जीवन के दो पक्षों को मुख्य रूप से सामने रखा गया है। साहित्य के इतने बड़े पुरस्कार के लिए स्वामी विज्ञानानंद, जनपद के साहित्यकार जफर इकबाल जफर, डॉक्टर ओम प्रकाश अवस्थी, कमर सिद्दीकी, शिव शरण सिंह चौहान अंशुमाली, राम लखन सिंह परिहार प्रांजल, शिवशरण बंधु हथगामी, डॉक्टर वारिस अंसारी, प्रेम नंदन, जमाल अहमद, राज फतेहपुरी, शिवम हथगामी, केके त्रिपाठी, सैयद अब्दुल्लाह जाफरी, जरगाम साहब, राजेंद्र साहू, शिव सिंह सागर, वसीक सनम आदि ने उन्हें बधाई दी है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages