प्रांतीय बैठक में कलाकारों की हालत चिंताजनक - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Monday, December 20, 2021

प्रांतीय बैठक में कलाकारों की हालत चिंताजनक

लोक कलाओं को जीविका से जोड़ने पर दिया जोर

बांदा, के एस दुबे । कलार्पण संस्था के तत्वावधान में आयोजित प्रांतीय बैठक में लुप्त हो रही कलाओं और विधाओं से जुड़े कलाकारों की हालत पर चिंता जाहिर की गई और उन्हें जीविका से जोड़कर संवर्धन की ओर आगे बढ़ने की जरूरत पर बल दिया गया। 

शहर के आदर्श बजरंग इंटर कालेज में आयोजित कलार्पण की प्रांतीय कार्यकर्ता परिचय वर्ग और प्रतिनिधि सभा की बैठक में चित्रकूट, झांसी, उरई, कानपुर िआद जिलों के करीब तीन दर्जन प्रतिनिधियों ने प्रतिभाग किया।

कलाकारों को सम्मानित करतीं समिति पदाधिकारी।

संस्था की केंद्रीय अध्यक्ष श्रद्धा निगम ने लुप्त हो रही लोक कलाओं को जीविका जोड़ने की जरूरत पर बल दिया। कहा कि रमतूला िआद पुराने वाद्ययंत्रों को फिर से लोकप्रिय बनाने के लिए प्रयास करने होंगे, तभी इन वाद्यों से जुड़े कलाकारों का संरक्षण किया जा सकेगा। कहा कि लोककला का महत्व आने वाली पीढ़ी को समझाना होगा, तभी उनके मन में लोककला के प्रति सम्मान की भावना जागृत हो सकेगी। बैठक के दौरान बुंदेलखंड-कानपुर प्रांत की कार्यकारिणी का गठन किया गया और सभी नवनियुक्त पदाधिकारियों को मनोनयन पत्र के साथ कलार्पण की पट्टिका से नवाजा गया। इस मौके पर डॉ.शिव प्रकाश सिंह, धनंजय सिंह, उमा पटेल, अंजू दमेले, शुचि श्रीवास्तव, देशराज सिंह, हरिनारायण मिश्र, प्रदीप पांडेय, पियूष रंजन, डा.अलंका नायक, अरिमर्दन सिंह, रसना तिवारी आदि शामिल रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages