हाड़कपाऊ ठंड से बेहाल जनजीवन, कोहरे ने रोकी रफ्तार - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, December 31, 2021

हाड़कपाऊ ठंड से बेहाल जनजीवन, कोहरे ने रोकी रफ्तार

ठंड से बचाव करने वाले साधनों की बिक्री धड़ल्ले से जारी 

फतेहपुर, शमशाद खान । बीते साल 2021 की विदाई व नए साल 2022 के आगमन को लेकर जहां युवाओं में उत्साह दिखाई दिया वहीं साल का अंतिम दिन भी बेहद ठंड के बीच गुजरा। लगातार बढ़ रही ठंड और कोहरे के चलते आम जिंदगी प्रभावित होने लगी है। कोहरे के चलते रफ्तार में भी कमी देखी गई। ट्रेनों की लेटलतीफी मुसाफिरों के लिए बवाले जान रही। ड्यूटी पर जाने वाले सरकारी कर्मचारियों सहित लम्बी दूरी की यात्रा करने वालों के लिए समस्या बढ़ती जा रही है। सर्दी से बचने के लिए लोग तरह-तरह के उपाय कर रहे है। बाजार में ठंड से बचाव करने वाले साधनों की बिक्री धड़ल्ले से जारी है। रोडवेज बसों को भी घने कोहरे के कारण हाइवे पर रेंग-रेंग कर चलना पड़ रहा है। लगातार लुढ़क रहे पारे के चलते हाड़कपाऊ ठंड ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है। सुबह का आगाज कोहरे के साथ शुरू हुआ तो यह स्थिति 09 बजे तक बनी रही। दिनभर शीतलहर चलने से लोग

ठंड से बचने के लिए आग तापते लोग।

कंपकपाते रहे। शाम होते ही एक बार फिर से ठंड का कहर लोगों के लिए आफत बन गया। जिससे लोगों को आवागमन में भारी दिक्कतें उठानी पड़ रही है। लगातार बढ़ रही ठंड लोगों के लिए परेशानी का सबब बनती जा रही है। पिछले एक सप्ताह से ठंड में जो इजाफा हुआ था वह लगातार जारी है। शुक्रवार की सुबह जब लोगों ने आंख खोली तो कोहरे की घनी चादर दिखाई दी। कोहरे ने यातायात को प्रभावित कर दिया। प्रातः 09 बजे के बाद कोहरा छटा लेकिन ठंड से राहत नहीं मिली। दिन भर बदली छाई रही। कोहरे के कारण ट्रेनों एवं चार पहिया वाहनों के संचालन में भी भारी दिक्कते शुरू हो गई हैं। ट्रेने अपने निर्धारित समय से देरी में ही स्टेशन पर पहुंची। नेशनल हाइवे पर भी कोहरे का कहर चार पाहिया वाहनों पर भारी पड़ रहा है। रेलवे स्टेशन एवं रोड़वेज बस स्टाप में सर्दी से ठिठुरते लोग देखे जा सकते है। सबसे अधिक दिक्कतों का सामना गरीब तबके के लोगों को उठाना पड़ रहा है। नगर पालिका प्रशासन द्वारा अलाव की जा व्यवस्था की गई हैं वह बढ़ रही ठंड के साथ अब नाकाफी साबित हो रही है। लोंगों ने और स्थानों पर अलाव जलवाए जाने की मांग की है। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages