15 दिन मे बांटे एक हजार करोड़ के ऋण : यादव - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, December 24, 2021

15 दिन मे बांटे एक हजार करोड़ के ऋण : यादव

एसबीआई की खराब स्थिति पर चढ़ा महानिदेशक का पारा, कार्यवाही को पत्र भेजने के दिए निर्देश

20 एटीएम, 20 नई बैंक शाखाएं खुलेंगी

विभिन्न योजनाओं से लोगों को रोजगार देने पर दिया जोर

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। महानिदेशक संस्थागत वित्त महानिदेशालय लखनऊ शिव सिंह यादव की अध्यक्षता व जिलाधिकारी शुभ्रान्त कुमार शुक्ल की उपस्थिति में जिला सलाहकार समिति की विशेष बैठक संबंधित अधिकारियों समेत बैंक अधिकारियों के साथ कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई।

महानिदेशक संस्थागत वित्त ने कहा कि यह भगवान श्रीराम की भूमि है। यहां पर बैंकों के माध्यम से विभिन्न योजनाओं में अधिक से अधिक लोगों को रोजगार से जोड़कर लाभान्वित कराया जाए। मुख्यमंत्री ने एसएलबीसी की समीक्षा बैठक की थी। जिसमें चित्रकूट जनपद भी देश के सौ आकांक्षात्मक जनपदों में शामिल है। सीएम ने जिले के विकास पर विशेष फोकस करने पर बल दिया है। ऋण जमानुपात बहुत कम है। सभी बैंक अधिकारी इसमें प्रगति कराएं। जिलाधिकारी व प्रभारी मंत्री के माध्यम से आगामी 15 दिन में लगभग एक हजार करोड़ रुपए के ऋण वितरण कराएं।

बैठक में निर्देश देते महानिदेशक।

जिलाधिकारी शुभ्रान्त कुमार शुक्ल ने महानिदेशक को अवगत कराया कि सीडी रेशियों में सबसे खराब स्थिति भारतीय स्टेट बैंक की है। इस पर महानिदेशक ने अग्रणी जिला प्रबंधक इंडियन बैंक आशुतोष कुमार को निर्देश दिए भारतीय स्टेट बैंक के खिलाफ सख्त कार्यवाही के लिए उच्चाधिकारियों को पत्र भेजा जाए। एमएसएम ई  के लिए जिलाधिकारी के माध्यम से अभियान चलाकर कार्य हों। किसान क्रेडिट कार्ड के लिए इंडियन बैंक, आर्यावर्त बैंक यह सुनिश्चित करें कि कोई भी पात्र किसान वंचित न रहे। यहां पर एटीएम बहुत कम है। इसको भी बढ़ाने का प्रस्ताव भेजें। उन्होंने सहायक निदेशक मत्स्य को निर्देश दिए कि मत्स्य पालकों को कैंप लगाकर किसान क्रेडिट कार्ड बनवाएं। दुग्ध विकास पशुपालन पर भी बढ़ावा दिया जाए। मुद्रा योजना से भी लाभान्वित करें। कहा कि जनपद में 20 एटीएम, 20 नई बैंक शाखाएं खोली जाएंगी। 

अग्रणी जिला प्रबंधक से कहा कि जिन क्षेत्रों में बैंक शाखाएं दूर है वहां का प्रस्ताव बनाकर भेजें। बैंकिंग सखी कितनी चयन की गई है। उन्हें आरसेटी से प्रशिक्षण दिलाया जाए। प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम में बैंकों पर जो आवेदन पत्र लंबित है वह 15 दिन के अंदर वितरण कराना सुनिश्चित करें। कहा कि जनपद की प्रगति अच्छी रहे। उन्होंने कहा कि सौ-सौ बैंक मित्र इंडियन बैंक, आर्यावर्त व अन्य बैंक भी बैंक मित्रों को बढ़ाएं। उन्होंने आरसेटी के निदेशक तुलसीराम से कहा कि आदिवासी बच्चों को चिन्हित कर प्रशिक्षण दिलाकर रोजगार से जोड़ने का कार्य किया जाए। उन्होंने बैंक अधिकारियों से कहा कि जिलाधिकारी को अच्छा अनुभव है। उनके अनुभव को लेकर जनपद में प्रगति कराएं। किसी भी योजना के संचालन में अगर कोई कठिनाई हो रही हो तो अवगत कराया जाए। ताकि उसका निस्तारण कराकर जनपद के लोगों को अधिक से अधिक रोजगार मुहैया कराकर स्वरोजगार से जोड़ा जा सके। 

बैठक में इंडियन बैंक डीजीएम प्रयागराज मिथिलेश कुमार, मुख्य प्रबंधक इंडियन बैंक अजीत कुमार मिश्रा, जिला विकास अधिकारी आरके त्रिपाठी, डीसी एनआरएलएम सुदामा प्रसाद, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डा. सुभाष चंद्र, पुलिस क्षेत्राधिकारी हर्ष पांडेय, खादी ग्रामोद्योग अधिकारी राजेंद्र कुमार आदि मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages