ऐसे पढ़ेगा इंडिया तो कैसे आगे बढ़ेगा इंडिया - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, November 9, 2021

ऐसे पढ़ेगा इंडिया तो कैसे आगे बढ़ेगा इंडिया

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा हुआ फुस्स

थरियांव-फतेहपुर, शमशाद खान । एक तरफ सरकार सर्व शिक्षा अभियान की योजना पर करोड़ों रुपए खर्च कर बच्चों को पढ़ने के लिए सरकार अभिभावकों को प्रेरित किया जा रहा। वहीं दूसरी ओर दूर दराज़ से गाँव के बच्चे विद्यालय पढने के लिए जातें हैं। जब माता पिता को यह जानकारी मिलती है कि विद्यालय में पढाई की जगह हाथों में फावड़े और खुरपी दे दिया जाता है और विद्यालय की पडी जमीन पर छोटी छोटी क्यारी बनाकर विभिन्न प्रकार की सब्जियाँ बुआई का कार्य करते नजर आ जाते हैं। पढ़ाई की जिम्मेदारी लेने वाली हेड शिक्षिका बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है।

प्राथमिक विद्यालय भारतपुर में छात्रों द्वारा किए जा रहे बालश्रम का दृश्य।

ताजा मामला विकास खंड हसवा के अंतर्गत उच्च प्राथमिक विद्यालय भारतपुर मजरे रामपुर थरियाँव का है। जहां सैकड़ों अभिभावक अपने बच्चों को पढ़ने के लिए विद्यालय भेज रहे हैं। वही जिम्मेदारी निभाने वाले शिक्षक स्कूल में बच्चों के हाथों में किताबों की जगह फावड़ा और झाड़ू थमा रहे हैं। बच्चों को शिक्षा के मंदिर में अध्यापिका छात्र व छात्राओं से (बालश्रम) क्यारियाँ बनवा कर खेती किसानी करवाती नजर आ रही हैं। उच्च प्राथमिक विद्यालय भारतपुर में साफ देखा जा सकता है कि छात्र, छात्राओं से मिट्टी डलवाई जा रही है। फावड़ा से स्कूल परिसर की खेती करवाई जा रही है।  जब मामले की जानकारी अभिवावकों को हुईं तो उन्होने शिक्षा विभाग के अधिकारियों से ऐसे लोगों के प्रति सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग किया।  इस संबंध में खंड शिक्षा अधिकारी जय सिंह वर्मा ने बताया कि अगर विद्यालय में बच्चों से कार्य करवाए जा रहे हैं तो जांच करने के बाद दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी।

 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages