जश्न-ए-मिलादुन्नबी में शहरकाजी ने शिक्षा के महत्व पर डाला प्रकाश - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, November 3, 2021

जश्न-ए-मिलादुन्नबी में शहरकाजी ने शिक्षा के महत्व पर डाला प्रकाश

फतेहपुर, शमशाद खान । मदरसा रहमतुल उलूम रेवाड़ी खुर्द में हाफिज रफीक अहमद की सरपरस्ती व काज़ी शहर कारी फरीद उद्दीन कादरी की सदारत में मंगलवार को बाद नमाज ईशा जलसा जश्न मिलादुन्नबी का आयोजन हुआ। जिसमें काज़ी शहर फरीद उद्दीन कादरी ने तकरीर करते हुए कहा कि किसी भी मुल्क की बदहाली उस मुल्क के शहरियों की जेहालत बेरोजगारी की बिना पर होती है। जिस मुल्क के शहरी जितने शिक्षित होंगे वो मुल्क उतना तरक्की करेगा। 

श्री कादरी ने कहा कि शिक्षा के माध्यम से स्वतंत्रा संग्राम में शहीद हुए लोगों की जीवन शैली व कारनामों को पढ़ाया जाए। इस्लाम वो मजहब है जो अधिकार एवं कर्तव्य की शिक्षा देकर दुनिया में आपसी भाईचारा साम्प्रदायिक सौहार्द कायम रखने का दावा पेश करती है। मौलाना शमीम अख्तर प्रिंसिपल जामिया मदीनतुल उलूम संगाव ने

जलसे को खेताब करते काजी-ए-शहर कारी फरीद उद्दीन।

कहा कि महज दहशतगर्दी की आड़ में बेगुनाहों के खून को बहाना ही बड़ा जुर्म नहीं है ब्लकि इसके नाम पर बेकसूर लोगों को फसाना या फिर मुजरिमों को किसी भीं मजहब का बता कर पूरी कौम के खिलाफ़ नफरत का माहौल पैदा करना भीं बहुत बड़ा जुर्म है। फफूंद शरीफ से आए मुफ्ती इनफासुल हसन चिश्ती ने कहा कि इस्लाम दुनिया में अदलो इंसाफ़ को कायम करने के वास्ते आया है। इसकी तालीमात में हम देखते है कि कहीं भी अगर किसी का दिल दुखता है तो अल्लाह तआला उस शख्स को तब तक माफ़ नहीं करता जब तक उसे वह माफ़ न कर दे जिसका दिल उसकी वजह से दुखा हो। उन्होने कहा कि दरअसल दिन यही है कि एक बंदा दूसरे बंदे के काम आए। शोराए केराम में जमजम फतेहपुरी, मुफ्ती आफताब अहमद फफूंद शरीफ, फुरकान फतेहपुरी, इरफान फतेहपुरी, इसरार फतेहपुरी ने नात पाक का नज़राना पेश किया। इमरान अहमद हबीबी ने जलसे का संचालन किया। रात लगभग चार बजे दरूदो सलाम के बाद मुफ्ती शहाब उद्दीन मिस्बाही कीं दुआ पर जलसे का समापन हुआ। हाफिज मोहम्मद रफीक व मदरसा रहमतुल उलूम के अराकीन ने आए हुए महमानों का शुक्रिया अदा किया।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages