खाद संकट खत्म न हुआ तो करेंगे आंदोलन और अनशन - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, November 2, 2021

खाद संकट खत्म न हुआ तो करेंगे आंदोलन और अनशन

बुंदेलखंड किसान मजदूर संघ ने सौंपा ज्ञापन 

बांदा, के एस दुबे । बुंदेलखंड किसान मजदूर संघ (अराज) ने प्रशासन को ज्ञापन सौंपकर एक सप्ताह में खाद का संकट न खत्म न होने पर आंदोलन और आमरण अनशन की चेतावनी दी। खाद संकट को लेकर प्रशासन के पास किसानों को आश्वासन देने के अलावा कुछ नहीं है। इससे किसानों की परेशानी लगातार बढ़ती जा रही है। किसान खाद के लिए सहकारी समितियों के चक्कर लगाने को मजबूर है। सहकारी समितियों का हाल यह है कि कहीं पॉस मशीन खराब है तो कहीं सचिव साहब छुट्टी पर हैं। अब किसान सिर पकड़कर समितियों के इर्द गिर्द घूम रहा है।


कोई सही जानकारी देने वाला नहीं कि आखिर खाद कब आएगी। पूरे जिले में खाद की किल्लत लगातार बरकरार है। जितनी जरूरत है उतनी खाद केंद्रों पर नहीं आ पा रही है। खाद संकट के मुद्दे पर बुंदेलखंड किसान मजदूर संघ (अराज) राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रहलाद करवरिया की अगुवाई में किसानों ने कलक्ट्रेट में जिलाधिकारी को संबोधित ज्ञापन सौंपकर खाद संकट दूर कराने की मांग की। कहा कि पूरे जिले भर में खाद के संकट से किसान परेशान है। प्रशासन और कृषि विभाग के अधिकारी खाद की कमी न होने का दावा कर रहे हैं। जबकि हकीकत कुछ और है। किसान खेतों को छोड़कर सहकारी समितियों के चक्कर काटने को मजबूर है। चेतावनी दी कि एक सप्ताह के अंदर खाद का संकट दूर न हुआ तो किसान आंदोलन और आमरण अनशन करेंगे। ज्ञापन देने वालों में दिनेश निरंजन, मुन्ना तिवारी, सुरेशचंद्र पटेल, संतोष शुक्ला, उमा सिंह, राजा त्रिपाठी, ज्योति शुक्ला, नीरज यादव, अमित सिंह पटेल, सुखलाल, रज्जू कुशवाहा, रामचरन पटेल आदि शामिल रहे। 

खाद संकट को लेकर कांग्रेस ने किया प्रदर्शन 

बांदा, के एस दुबे। कांग्रेस जिलाध्यक्ष प्रद्युम्न कुमार दुबे ‘लालू’ की अगुवाई में पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने सोमवार को आयुक्त कार्यालय में खाद संकट पर प्रदर्शन किया। मंडलायुक्त को सौंपे ज्ञापन में कहा है कि जिले का अन्नदाता खाद संकट से परेशान है। किसान खाद के लिए सहकारी समितियों के इर्द गिर्द घूम रहा है। कोई सही जानकारी देने वाला नहीं कि आखिर खाद कब आएगी। इस समय खेतों में गेहूं, सरसों, मसूर, अलसी और मटर की बुआई चल रही है। किसान रबी फसलों की तैयारी में व्यस्त है। खाद न मिलने से किसानों की बुआई लगातार पिछड़ती जा रही है। किसानों की रातों की नींद हराम है। जनपद की ज्यादातर सहकारी समितियों में खाद के लिए आधी रात से कतार लग रही है। सहकारी समितियों में किसानों की भीड़ जुट रही है। कांग्रेसजनों ने सहकारी समितियों में पर्याप्त मात्रा में खाद उपलब्ध कराने


की मांग की। ज्ञापन देने वालों में पूर्व जिलाध्यक्ष राजेश दीक्षित, ओमप्रकाश सिंह गौतम, राममिलन सिंह पटेल, केशव पाल, संतोष, शब्बीर सौदागर, सुखदेव गांधी, राजेश गुप्ता, रामहित निषाद आदि शामिल रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages