खेल : बिजली का वर्कशॉप बना प्राइवेट ठिकाना - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, November 9, 2021

खेल : बिजली का वर्कशॉप बना प्राइवेट ठिकाना

बाहरी शख्स की नाजायज दखल से कट रही जेब

फतेहपुर, शमशाद खान । बिजली विभाग के कारनामे प्रशासनिक व्यवस्था की धज्जियां उड़ा रहे हैं। हर वह काम इस विभाग में होता है जो असंभव माना जाता है। तभी तो वर्कशॉप से मिलने वाला ट्रांसफार्मर गैर बिजली कर्मी के घर से उपलब्ध कराया जाता है। जिस कारण ट्रांसफार्मर उपलब्धता के नाम पर उपभोक्ता की जेब काटी जाती है। 

लोडर में रखा ट्रांसफार्मर।

गौर करने वाली बात यह है कि यह काम भी बकायदा गेट पास जारी होने के बाद होता है। इससे साफ होता है कि इस नाजायज खेल को किस तरह विभागीय वरदहस्त मिला हुआ है। जेई चंद्रभूषण खुद स्वीकारते हैं अगर ऐसा हो रहा है तो इसमें साफ तौर पर स्टोर वालों की मिलीभगत शामिल है। बकौल जेई, आनलाइन के बाद तीन दिन में उपभोक्ता को ट्रांसफार्मर उपलब्ध कराए जाने का प्रावधान है। इसी व्यवस्था का फायदा उठाया जा रहा है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages