शहर के व्यस्त चौराहों पर लगने वाले जाम से लोग हो रहे हलाकान - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Sunday, November 14, 2021

शहर के व्यस्त चौराहों पर लगने वाले जाम से लोग हो रहे हलाकान

यातायात माह का महत्व ट्रैफिक पुलिस के ठेंगे पर, वाहन चेकिंग को समझते ड्यूटी

फतेहपुर, शमशाद खान । शहर की ट्रैफिक व्यवस्था चरमराई हुई है। हालात ऐसे हैं कि शहर के अंदर किसी भी मांर्ग को पार करना अपने आप में एक गंभीर चुनौती है। जाम की स्थिति से गुजरने वाले चौराहों में ज्वालागंज, बाकरगंज, सदर अस्पताल चौराहा, पटेल नगर, चौक चौराहा आदि मार्गां में वाहन चालकों की लापरवाही व यातायात पुलिस की अनदेखी से हर समय जाम की स्थिति बनी रहती है। जाम में लोगो के फंसे होने के बावजूद यातायात विभाग के ज़िम्मेदारों के कानों में जूं तक नही रेंगती और जाम में फँसे हुए लोगों को निकालने के लिये कोई कदम उठाने की जहमत तक नहीं उठाते। 

चौक चौराहे पर लगा जाम।

शहर के लोगों को जाम जैसी स्थिति से बचाने के लिए पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह ने ट्रैफिक व्यवस्था का पूरा खाका बनांकर यातायात प्रभारी के नेतृव में पुलिस कर्मियों एवं होमगार्डों की पूरी टीम की तैनाती की है लेकिन पुलिस अधीक्षक के निर्देशों का कितना पालन हो रहा है। यह तो जाम में फंसकर रह गुजरने वालों से बेहतर कोई नहीं जान सकता। वहीं यातायात का ज़िम्मा संभाले हुए ज़िम्मेदार सड़कों के किनारे बाइक सवारों के दस्तावेज़ों को चेकिंग करने में ही सिमट कर रह गए हैं। यातायात नियंत्रित करने की जगह वाहन चेकिंग को ही केवल अपना दायित्व समझकर ड्यूटी पूरी कर रहे हैं। शहर के लगने वाले हर समय के जाम की वजह से स्कूल आने जाने वाले बच्चों के अलावा मरीज़ों को लेकर जाने वाली एम्बुलेंस भी अक्सर मार्गां पर फंस कर घंटों तक खड़े रहने को मजबूर हो जाती है। कई बार जाम में फंसी एम्बुलेंस में मरीज़ों की खराब हालत को देखते हुए मरीज़ों के परिजनों को लोगों से निकलने में मदद के लिए मिन्नतें करते हुए भी देखा जा सकता है। वहीं लोगों की माने तो यातायात विभाग पर शहर की ट्रैफिक व्यवस्था का ज़िम्मा तो होता है। चौराहों पर तैनाती के बाद भी विभाग के लोग जाम की वजह बनने वाली चीज़ों को रोकते नही है बल्कि केवल वाहनों की चेकिंग में लगे रहते हैं। जिस कारण जाम की समस्या दिनो-दिन विकराल रूप ले रही है। यातायात माह नवम्बर महीने में भी इस तरह जाम लगना और इस पर किसी तरह का नियंत्रण न करना ट्रैफिक विभाग की लापरवाही व सरकार की ओर से नवम्बर माह के महत्व को ठेंगा दिखाना ही है।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages