लठ्ठमार दीवारी नृत्य देख हतप्रभ हुए दर्शक - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Saturday, November 6, 2021

लठ्ठमार दीवारी नृत्य देख हतप्रभ हुए दर्शक

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। भगवान श्रीराम की तपोस्थली के विभिन्न स्थानों पर दीवारी नृत्य का आयोजन किया गया। इसके अलावा परिक्रमा क्षेत्र में विभिन्न स्थलों पर दीवारियों का जमघट देखने को मिला। इसी क्रम में दीवारी नृत्य में शामिल टीमों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया। इसके अलावा गांव-गांव में दीवारी नृत्य कर कलाकारों ने अपनी कला का प्रदर्शित किया। 

दीवारी नृत्य करते कलाकार।

तीर्थ नगरी के भरत मिलाप मंदिर, यादव धर्मशाला अक्षयवट के परिसर में बुन्देलखण्ड के तमाम गांवों से आये ग्रामीणों ने ढोलक व नगडिया की थाप पर विभिन्न प्रकार के गीत व लमटेरा गाकर भक्ति में सराबोर मयूर पंखों व घुंघरू की गूंज के बीच दीवारी नृत्य किया। टीम के कलाकारों ने पटा बनैती, ऊंची व लम्बी कूद की ऐसी कलायें दिखाईं तो दर्शकों ने दांतों तले उंगली दबा ली। दीवारी नृत्य में शामिल टीमों का उत्साहवर्धन मौजूद दर्शकों ने किया। ऐसी परम्पराओं से आपस के भाईचारे की भावना उजागर होती है। बताया गया कि दीवारी कला पूर्वजों की धरोहर है। इसे बनाये रखने को नई पीढ़ी के युवाओं को भी सक्रिय भूमिका निभाना चाहिए। कहा कि समाज के लोग एकजुट होकर मुख्य धारा से जुड़ें और एक-दूसरे के दुख-सुख में सहभागी बने। इसके अलावा दीवारी नृत्य गांव-गांव में देर शाम तक चला। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages