आल्हा सम्राट जयशंकर त्रिवेदी के गायन से फड़की भुजाएं - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, November 23, 2021

आल्हा सम्राट जयशंकर त्रिवेदी के गायन से फड़की भुजाएं

मंगरेमऊ में हुआ भव्य आयोजन

हथगाम/फतेहपुर, शमशाद खान । हाल ही में प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा द्वारा सम्मानित रायबरेली के आल्हा सम्राट जयशंकर त्रिवेदी ने हथगाम विकास खंड के मंगरेमऊ में कार्यक्रम प्रस्तुत किया। आल्हा सुनकर उपस्थित लोगों की भुजाएं फड़कने लगीं। आयोजकों ने उन्हें सम्मानित भी किया।

आल्हा सम्राट ने सोमवार को देर रात आल्हा गायन से लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। आल्हा ऊदल की वीरता का वर्णन करते हुए उन्होंने बड़ा ही शानदार प्रदर्शन किया। आल्हा सम्राट अब तक केंद्रीय राज्यमंत्री साध्वी निरंजन

आल्हा गायन करते जयशंकर त्रिवेदी।

ज्योति, खाद्य एवं रसद राज्यमंत्री रणवेंद्र प्रताप सिंह उर्फ धुन्नी सिंह, स्वर्गीय रामविलास पासवान, केंद्रीय मंत्री कृष्णा राज आदि बड़ी हस्तियों द्वारा सम्मानित हो चुके हैं। मगरेमऊ में आयोजक रामखेलावन, प्रधान प्रतिनिधि अनीस अहमद, ग्राम प्रधान मोहम्मद हसन आदि ने उनका स्वागत किया। नगर महोबा इक बस्ती है जह पर बसे रजा परिमार, जिनके घरिमा आल्हा ऊदल जिनकी वेग बही तलवार जैसे वीर रस की पंक्तियों के अलावा बारहमासी ने धूम मचा दी। चौत का लरिका है बलधारी, वईसे जीत सके न कोय, बैसाख का लरिका सांची बोलै, जेठ का मूरख अति बतलाए, जईका लरिका होय अषाढ़ मा घर का दुक्ख दलिद्दर जाए। सावन लरिका हुवै सुहावना शोभा एकु बरन न जाय, भादों लरिका नहीं नीक है, लागै दोष नेनौरे क्यार, मामा से भी करै लड़ाई, भाई सुनना ध्यान लगाय, क्वार का लरिका कर्म कही न, भैया सबका रहेन बताय, कातिक लरिका है कुल घातिक माने न मात पिता की आनि, अगहन लरिका नच्चू कुद्दू गलियन चले उड़ावै धूरि, पूस का लरिका होय नफूसी जंह तंह बैठ बजावै गाल, माघ का लरिका पोथी बाचौ, फागुन जनै कुलच्छन होय। आल्हा सम्राट के साथ बांसुरी पर रामदीन, ढोलक पर रामशंकर, सींका पर भुल्लन, दंड ताल पर जनार्दन यादव और सहादत गायक के रूप में रामनरेश यादव ने साथ दिया। इस मौके पर अनीस अहमद, प्रधान मोहम्मद हसन, परवेज मोहलिया, पंचायत मित्र, सुनील कुमार, रमेश, अशोक यादव, जितेंद्र कुमार आदि अनेक विशिष्ट लोग भी मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages