शिविर में बताए गए महिलाओं के अधिकार - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Friday, November 12, 2021

शिविर में बताए गए महिलाओं के अधिकार

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार राष्ट्रीय महिला आयोग के तत्वावधान में शुक्रवार को तहसील सभागार कर्वी में विधिक जागरूकता, महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम संपन्न हुआ। जिसकी अध्यक्षता सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण विदुषी मेहा ने की।

सचिव विदुषी मेहा ने बताया कि महिलाओं के संरक्षण को कई कानून बनाए गए हैं। कार्य स्थल पर छेड़छाड़ से संरक्षण का अधिकार, पुरुषों के समान पारिश्रमिक का अधिकार, मुफ्त कानूनी सहायता का अधिकार, रात में गिरफ्तार न होने का अधिकार, कन्या भ्रूण हत्या के खिलाफ अधिकार, कामकाजी महिलाओं को मातृत्व संबंधी लाभ का अधिकार, घरेलू हिंसा से सुरक्षा का अधिकार ,यौन उत्पीड़न की पीड़िता का नाम सार्वजनिक न होने का अधिकार, संपत्ति में बराबरी का अधिकार दिया गया है। यह भी बताया गया कि वैवाहिक विवादों के निपटान के लिए जनवरी में प्री लिटिगेशन स्पेशल लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा। शिविर में उपस्थित आंगनवाड़ी,

शिविर में जागरुक करतीं सचिव।

आशा कार्यकर्ताओं को बताया गया कि वैवाहिक विवाद से संबंधित प्रार्थना पत्र लेकर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण कार्यालय में प्रस्तुत करें। महिला कल्याण अधिकारी प्रिया माथुर ने कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, हेल्प लाइन नंबर 1090, 181, वन स्टॉप सेंटर की सुविधा के बारे में जानकारी दी। महिला थानाध्यक्ष अनुपम श्रीवास्तव ने बताया कि हेल्पलाइन नंबर पर कोई भी महिला कॉल कर तुरंत अपनी बात पुलिस को बता सकती है। महिला अधिवक्ता नीरु गुप्ता, दमयंती श्रीवास्तव ने भी विभिन्न कानूनों से अवगत कराया। इस मौके पर जिला सूचना अधिकारी सुरेंद्र कुमार, जिला समन्वयक मीनू सिंह, शिक्षिकाएं, आंगनवाड़ी कार्यकत्री, आशा कार्यकत्रियां आदि मौजूद रहीं।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages