विकास प्राथमिकता, निर्माण कार्यो की डीएम ने की समीक्षा - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Wednesday, November 10, 2021

विकास प्राथमिकता, निर्माण कार्यो की डीएम ने की समीक्षा

चित्रकूट, सुखेन्द्र अग्रहरि। जिलाधिकारी शुभ्रांत कुमार शुक्ल की अध्यक्षता में विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों की मासिक समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई।

जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना पर जिला समाज कल्याण अधिकारी को निर्देश दिए की खंड विकास अधिकारियों, अधिशासी अधिकारियों को जो लक्ष्य दिया गया है उसीके अनुसार आवेदन पत्र प्राप्त कर राष्ट्रीय रामायण मेला स्थल एवं विकास खंड स्तर पर सामूहिक विवाह का आयोजन कराया जाए। उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों से कहा कि इसकी तैयारी पूरी करे। डिप्टी आरएमओ सहित संबंधित अधिकारियों से कहा कि धान क्रय केंद्रों में किसानों का धान क्रय कर समय से भुगतान भी कराएं। किसानों को किसी भी तरह की असुविधा नहीं होनी चाहिए। साधन सहकारी समिति केंद्रों में पर्याप्त मात्रा में खाद की उपलब्धता बनी रहे। खंड विकास

बैठक में निर्देश देते डीएम।

अधिकारियों, कार्यदाई संस्थाओं को निर्देश दिए कि मनरेगा में कार्यों को कराकर मजदूरों को रोजगार मुहैया कराया जाए। कन्या सुमंगला योजना की समीक्षा पर जिला प्रोबेशन अधिकारी को निर्देश दिए कि जन सेवा केंद्रों के माध्यम से अधिक से अधिक इस योजना का लाभ लाभार्थियों को दे। आंगनबाड़ी केंद्रों के कायाकल्प की समीक्षा पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिए कि ग्राम निधि से पैरामीटर्स के हिसाब से कायाकल्प कराया जाए। उन्होंने कहा कि यह नीति आयोग में भी मुख्य बिंदु है। इसको ध्यान में रखते हुए इन कार्यों पर तेजी लाई जाए। ताकि जनपद की रैंकिंग ठीक रहे। उन्होंने विद्युत बकाया बिलों के संबंध में समस्त संबंधित जिला स्तरीय अधिकारियों से कहा कि विद्युत बकाया बिलो का भुगतान कराएं। उन्होंने बिजली विभाग के अधिकारियों से कहा कि ओटीएस की स्कीम से संबंधित लाभार्थियों को शिविर लगाकर लाभ दिलाया जाए। इसका एक माइक्रो प्लान बनाकर कार्य कराएं। विकास खंड, नगर पालिका, नगर पंचायतों में भी एक कक्ष में पोस्टर बैनर लगाकर ओटीएस के लाभ दिलाने का प्रचार प्रसार किया जाए। इस मौके पर उन्होंने विभिन्न योजनाओं समेत 50 लाख से अधिक के निर्माण कार्यों की बिन्दुवार समीक्षा की। उन्होंने कार्यदाई संस्थाओं, जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि जो भी विकास कार्य कराए जाएं वह शासन की मंशा के अनुरूप गुणवत्तापूर्ण होना चाहिए। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं होना चाहिए। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी भूपेश द्विवेदी, उप निदेशक कृषि राजेश कुमार दुबे, जिला विकास अधिकारी आरके त्रिपाठी, परियोजना निदेशक ऋषिमुनि उपाध्याय, जिला पंचायत राज अधिकारी तुलसीराम सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages