कृषि बिल वापसी पर भाकियू ने मनाया जश्न - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Saturday, November 20, 2021

कृषि बिल वापसी पर भाकियू ने मनाया जश्न

किसानों के बलिदान को किया नमन

फतेहपुर, शमशाद खान । सरकार द्वारा कृषि बिल वापसी लिए जाने पर भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले किसानों ने जीत का जश्न मनाते हुए एक दूसरे का मुंह मिठा कराकर खुशी का इज़हार किया। साथ ही एमएसपी पर कानून बनाए जाने समेत किसानों की लंबित अन्य मांगों को शीघ्र पूरी किए जाने की मांग किया।

शनिवार को बहुआ ब्लाक के ग्राम मोहनपुर में भारतीय किसान यूनियन जिला महासचिव प्रीतम सिंह चंदेल की अगुवाई में किसानों ने कृषि कानून को वापस लिए जाने पर हर्ष जताते हुए ढोल नगाड़े बजाकर व एक दूसरे को

एक-दूसरे का मुंह मीठा कराकर जश्न मनाते भाकियू पदाधिकारी।

मिठाई खिलाते हुए खुशियां मनाई। किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने सरकार द्वारा कृषि बिल वापसी लेने पर किसानों के बलिदानों के बाद मिली बड़ी जीत बताया। साथ ही एमएसपी पर अभी तक कानून न बनाये जाने पर अंसतोष व्यक्त करते हुए सरकार से किसानों की मांगों पर सुधि लेने व धरने के दौरान शहीद हुए सात सौ से अधिक किसानो के परिजनों को मुआवजा व एक परिजन को सरकारी नौकरी दिए जाने की मांग किया। इस दौरान जिला महासचिव प्रीतम सिंह चंदेल ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कृषि बिल को वापस लिए जाने की घोषणा करना कृषि कानूनों को लेकर किसान नेता नरेश टिकैत की अगुवाई में चल रहे धरना प्रदर्शन व किसानों की जीत है। कृषि कानून को वापस लेने को केंद्र सरकार को मजबूर होना पड़ा। उंन्होने कहा कि धरने के दौरान किसानों को भीषण सर्दी, गर्मी व लू धूप सहने के बाद सात सौ से आधिक किसान शहीद हो गए। उंन्होने कहा कि सरकार एमएसपी की गारंटी समेत किसानों के बिजली में राहत देने समेत किसानों की सभी लंबित समस्याओ का शीघ्र निस्तारण करे। उंन्होने कहा कि सरकार सभी शहीद किसानों के प्रति मानवीय दृष्टिकोण अपनाते हुए परिवार को मुआवजा व एक सदस्य को सरकारी नौकरी दे। इस मौके पर सदर तहसील अध्यक्ष दीपक गुप्ता, सोनू सिंह, भानु पटेल, शिवजीत सिंह, भारत सिंह, उग्रसेन सिंह, रवि सिंह, सुरेश सिंह, गुड्डू लोधी आदि रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages