राम व निषाद वंशजो के शासन करने पर ही आयेगा रामराज्य : संजय - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, November 9, 2021

राम व निषाद वंशजो के शासन करने पर ही आयेगा रामराज्य : संजय

प्रयागराज में निषाद बाहुल्य सीटों से पार्टी उतारेगी प्रत्याशी

भाजपा अपना वादा पूरा करती है तो गठबंधन रिकार्ड तोड़ सीटें करेगा हासिल

फतेहपुर, शमशाद खान । राम के वंशज व निषाद के वंशजों के शासन करने पर ही देश में रामराज्य कायम हो सकेगा। भाजपा के साथ निषाद पार्टी अटूट गंठबंधन में है। 21 नम्बर को लखनऊ में होने वाली सरकार बनाओ अधिकार पाओ रैली को सरकार के आश्वासन पर स्थगित कर 21 नवम्बर को रमाबाई पार्क में जनाधिकार दिवस के रूप में मनाया जायेगा। जिसमे गृहमंत्री अमित शाह मुख्य अतिथि के रूप के शामिल होकर मछुआ समाज को सौगात देने का काम करेंगे। उक्त बातें निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ संजय निषाद ने पत्रकारो से वार्ता के दौरान कही।

पत्रकारों से बातचीत करते निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. संजय निषाद।

बुधवार को खागा विधानासभा क्षेत्र में आयोजित पार्टी के एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए जनपद पहुँचे राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ संजय निषाद ने लोक निर्माण विभाग के डाक बंगले में पत्रकारों से रूबरू होते हुए बताया कि उनका भाजपा से अटूट गंठबंधन है। सरकार मछुआ समाज को उनके अधिकार देती है और एससी मझवार, तरैहा आरक्षण प्रमाण पत्र जारी करती है तो भाजपा व निषाद पार्टी का गठबंधन पिछले सभी रिकार्ड ध्वस्त कर सीटें जींतने का काम करेगा। उन्होने कहा कि पार्टी प्रयागराज जनपद की निषाद बाहुल्य सींटो से प्रत्याशी लड़ाने का काम करेगी। कहा कि भाजपा सरकार मछुआ समुदाय के वंचितों को उनका अधिकार देने जा रही है और 21 नवम्बर को लखनऊ में होने वाली महारैली में गृहमंत्री अमित शाह मुख्य अतिथि के रूप के मछुआ समुदाय के लिए घोषणाओं का एलान कर सकते हैं। उंन्होने कहा कि निषाद पार्टी एकमात्र मकसद मछुआ समुदाय को उनका अधिकार दिलाने का है। वीरांगना फूलन देवी हत्या प्रकरण की सीबीआई जांच में अधिकरियों द्वारा रोड़े अटकाए जा रहे हैं। श्रीराम पर अपने दिए बयान पर खेद जाहिर करते हुए कहा कि उनके कथन को तोड़ मरोड़कर पेश किया गया है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पर टिप्पणी करते हुए कहा कि जो अपने घर चाचा को नहीं संभाल पाया। वह प्रदेश क्या संभालेगा। इस मौके पर जिलाध्यक्ष लोक नाथ निषाद, पंकज निषाद, सर्वेश निषाद, राजीव निषाद आदि रहे।


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages