विरोधी मानसिकताएं भारत को तोड़ने का कर रही प्रयास : सुबूही - Amja Bharat

Amja Bharat

All Media and Journalist Association

Breaking

Tuesday, November 2, 2021

विरोधी मानसिकताएं भारत को तोड़ने का कर रही प्रयास : सुबूही

राष्ट्र जागरण अभियान के तहत निकली यात्रा पहुंची फतेहपुर 

सीएए व एनआरसी के सामाजिक, वैधानिक व राजनैतिक पहलुओं पर लोगों को कर रही जागरूक 

फतेहपुर, शमशाद खान । सीएए व एनआरसी को लेकर लोगों के बीच व्याप्त संशय को खत्म करने के उद्देश्य से राष्ट्र जागरण अभियान के तहत निकाली जा रही यात्रा फतेहपुर पहुंची। यात्रा की शुरूआत करने वाली अधिवक्ता, सामाजिक कार्यकर्ता व कबीर फाउंडेशन की संस्थापक सुबूही खान ने कहा कि सात विरोधी मानसिकताएं भारत को तोड़ने का प्रयास कर रही हैं। यह यात्रा विभिन्न विभिन्न जनपदों में निकालकर लोगों को एनआरसी व सीएए के प्रति जागरूक करने का काम किया जा रहा है। 

गोष्ठी को संबोधित करतीं सामाजिक कार्यकर्ता सुबूही खान।

सुबूही खान ने बताया कि यात्रा की शुरुआत कानपुर प्रांत से की गई है। इटावा से शुरू होकर यह यात्रा कानपुर, बिठूर, चौडगरा, फ़तेहपुर, बाँदा, महोबा, झाँसी व उसके पास के अन्य ज़िले, उरई, औरैया, कन्नौज होते हुए चित्रकूट जाएगी। फतेहपुर में राष्ट्र धर्म विषय पर एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। उन्होने बताया कि प्रदेश के हाथरस प्रकरण के बाद इस अभियान को एक नई दिशा दी गई। अपने गुरु केएन गोविंदाचार्य के संरक्षण और मार्गदर्शन में अपनी टीम के साथ राष्ट्र जागरण अभियान के अंतर्गत भारत प्रवास पर हैं। देश की खंडित चेतना शक्ति और आध्यात्मिक बल को जगाने और एकत्र करने का काम कर रही हैं। उन्होने कहा कि सात भारत विरोधी मानसिकताएं अपना तन, मन, धन लगा कर भारत को तोड़ने का प्रयास कर रही हैं। हम लोग बँटे होने के कारण उनको पराजित नहीं कर पा रहे हैं। वो सात भारत विरोधी मानसिकताएँ वामपंथी और उनके हथियारबंद गिरोह माओवादी और नकसलवादी, अलगाववादी, कट्टरवादी और आतंकवादी संगठन, बौद्धिक आतंकवादी, विधर्मी राजनैतिक दल, अंतर्राष्ट्रीय ताक़तें, धर्मांतरण माफ़िया व विधर्मी कारपोरेट माफ़िया हैं। यह सभी ताक़तें एकजुट होकर हमसे लड़ रही हैं और हमे खंड-खंड में बाँट कर पराजित करना चाहती हैं। उन्होने कहा कि अब समय आ गया है कि हम देश की खंडित हुई चेतना शक्ति को पुनः जागृत और अखंड बनाना है। अपने देश के आध्यात्मिक और आत्म बल को जागृत कर एकात्मता के एहसास के साथ आक्रमण का प्रतिकार करना है। इस मौके पर संयोजक विपिन पटेल के साथ सौम्या पटेल, मोबीना वारसी, संगीता द्विवेदी, संगीता सचान, मधु शर्मा, अखंड, आशीष, पोरस, रणधीर, अभिषेक, पार्थ आदि उपस्थित रहे। 


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Pages